चारा घोटाले से जुड़े मामले में नागालैंड के दो अधिकारियों की हुई गवाही

Daily news network Posted: 2018-04-06 11:28:01 IST Updated: 2018-04-06 12:16:30 IST
चारा घोटाले से जुड़े मामले में नागालैंड के दो अधिकारियों की हुई गवाही

डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी के मामले में गवाही दर्ज कराई गई। चारा घोटाले से जुड़े इस मामले में बिहार के पूर्व मंत्री रामजीवन सिंह सहित नागालैंड के दो अधिकारियों की गवाही हुई। गवाही देने वाले नागालैंड के दो अधिकारियों में मोकोकचुंग के आरटीओ अहितो अच्चयूमि और डीटीओ सुकनुंग मेलचू शामिल थे।

 



अहितो अच्चयूमि ने चारा घोटाला के दौरान प्रयुक्त वाहनों के संबंध में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जिन वाहनों से संबंधित सूचना मांगी गयी थी, उसमें दो मोटरसाइकिल, एक बस, एक कार और तीन स्कूटर थे। इसमें एक का रजिस्ट्रेशन ही नहीं हुआ था। इसके अलावा सुकनुंग मेलचु ने भी वाहनों के संबंध में जानकारी दी। वहीं पूर्व मंत्री रामजीवन सिंह ने बताया कि वर्ष 1988-89 में पशुपालन विभाग में आपूर्ति के बिल पर एजी ने आपत्ति दर्ज करायी थी। इसका कारण बिल के साथ संलग्न चालान पर वाहनों का गलत नंबर दर्शाना था।


 

उन्होंने कहा कि वाहनों के नंबर से संबंधित फाइल जब मेरे पास आयी थी तो मैंने उसकी जांच सीबीआई से कराने की अनुशंसा करते हुए फाइल को सील कर तत्कालीन मुख्यमंत्री लालू प्रसाद के पास भेजा, लेकिन फाइल दोबारा मेरे पास नहीं आई।