सरकार के पहल पर छात्रों ने आंदोलन लिया वापस, जनिए क्या है पूरा मामला

Daily news network Posted: 2019-06-06 17:33:02 IST Updated: 2019-06-06 20:44:53 IST
सरकार के पहल पर छात्रों ने आंदोलन लिया वापस, जनिए क्या है पूरा मामला
  • ऑल नागालैंड स्टूडेंट यूनियन ने सरकार के हस्तक्षेप के बाद अपना अनिश्तिकालीन भुख हड़ताल समाप्त कर दिया। सरकार ने छात्रों के पांच मांगों को मान लिया है और जल्द से जल्द इस को अमल में लाने का भरोसा दिया है।

कोहिमा

ऑल नागालैंड स्टूडेंट यूनियन ने सरकार के हस्तक्षेप के बाद अपना अनिश्तिकालीन भुख हड़ताल समाप्त कर दिया। सरकार ने छात्रों के पांच मांगों को मान लिया है और जल्द से जल्द इस को अमल में लाने का भरोसा दिया है।



मुख्यमंत्री नेफ्यू रियो, उच्च शिक्षा एवं तकनीकी मंत्री तेमजेन इमना व एएनसीएसयू के वाईस-प्रेसिडेंट बेंनजोंग लोंगचार ने एक साझा प्रेस वार्ता की। प्रेस वार्ता के दौरान सरकार ने कहा की सरकार छात्र संगठन के द्वारा उठाए गए सभी आरोपों को मान ली है और सरकार सभी मामलों की स्वतंत्र एवं निष्पक्ष जांच कराएगी एवं दोषियों पर उचित कारवाई करेगी। उन्होंने कहा कि राज्य तकनीकी स्कॉलरशिप में हुई अनियमितता पर चिंता जताई और कहा कि दोषी पाए जाने वाले सभी कर्मचारी एवं अधिकारियों पर सख्त कारवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि तकनीकी विभाग के भूतपूर्व निदेशक को किसी भी पद पर नही नियु्क्ति नहीं मिलेगी जब तक की जांच की रिपोर्ट नहीं आ जाती।

 

 सरकार ने तुरंत प्रभाव से एक नोडल सेल का गठन किया है जो राज्य में सभी प्रकार की स्कॉलरशिप स्कीम को सख्ती से लागू कराएगी। वहीं सरकार ने कोहिमा साइंस काॅलेज की जमीन के मामला को भी सुलझाएगी और वैकल्पिक व्यवस्था करेगी। काॅलेजों में प्रोफेसरों कि नियुक्ति का मामला भी सुलझाने पर जोर दिया है और प्रोफेसरों की नियुक्ति को नागालैंड सेवा आयोग से कराने का निर्देश दिया है। वहीं नागालैंड काॅलेज स्टूडेंट यूनियन के उपाध्यक्ष बेंनजोंग लोंगचार ने कहा कि सरकार और उच्च शिक्षा एवं तकनीकी मंत्रालय ने 4 जून के दिन छात्रों पर किए गए ज्यादती के लिए खेद प्रकट किया है उस कारवाई के लिए छमा मांगी है।