मुश्ताक अली ट्रॉफी टी-20 टूर्नामेंट, सिक्किम के खिलाफ अपने अभियान की शुरुआत करेगा मुंबई

Daily news network Posted: 2019-02-21 10:38:45 IST Updated: 2019-02-21 10:38:45 IST
मुश्ताक अली ट्रॉफी टी-20 टूर्नामेंट,  सिक्किम के खिलाफ अपने अभियान की शुरुआत करेगा मुंबई
  • भारतीय टेस्ट टीम के उपकप्तान और मुंबई के कप्तान अजिंक्य रहाणे का कहना है कि उनकी टीम रणजी ट्रॉफी के निराशाजनक प्रदर्शन से उबरकर यहां छोटे प्रारूप में अपनी लय को बरकरार रखने का प्रयास करेगी।

इंदौर।

भारतीय टेस्ट टीम के उपकप्तान और मुंबई के कप्तान अजिंक्य रहाणे का कहना है कि उनकी टीम रणजी ट्रॉफी के निराशाजनक प्रदर्शन से उबरकर यहां छोटे प्रारूप में अपनी लय को बरकरार रखने का प्रयास करेगी। उसका ध्यान इस समय केवल मुश्ताक अली ट्रॉफी टी-20 टूर्नामेंट पर है। मुंबई टीम गुरुवार को अपेक्षाकृत कमजोर सिक्किम के खिलाफ अपने अभियान की शुरुआत करेगी। इसके लिए टीम ने यहां एमरल्ड हाइट्स मैदान पर दोपहर के सत्र में जमकर अभ्यास किया।

 

सितारों से सजी मुंबई टीम में रहाणे के अलावा चोट से वापसी कर रहे युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ, श्रेयस अय्यर, सूर्यकुमार यादव, आदित्य तारे, धवल कुलकर्णी जैसे नाम हैं। ऐसे में वह इस मैच को मजबूत टीमों का सामना करने से पहले तैयारी के तौर पर लेगी।

 

हमारा ध्यान अभी केवल ट्रॉफी पर : कप्तान रहाणे ने कहा कि घरेलू सत्र में वापसी करना अच्छा है। वह हमेशा से ही टीम के लिए खेलने में गर्व का अनुभव करते हैं। हमारा रणजी सत्र भले ही इतना अच्छा नहीं रहा। लेकिन हाल ही में हमने विजय हजारे ट्रॉफी में अच्छा प्रदर्शन किया है। जहां तक रणजी ट्रॉफी में चुनौती का सवाल है, प्रत्येक टीम चार दिवसीय क्रिकेट में अब बेहतर हो रही है। ऐसे में सभी टीमों के लिए यह एक चुनौती है। लेकिन अभी हमारा ध्यान पूरी तरह से टी-20 पर है। रहाणे ने इस टूर्नामेंट के आयोजन के समय को लेकर कहा कि आइपीएल से पहले इस टूर्नामेंट का होना एक तरह से अच्छा ही है। ज्यादातर खिलाड़ी आइपीएल में खेलेंगे ऐसे में उनके लिए यह एक अच्छा मौका रहेगा। लेकिन अभी मैं आइपीएल के बारे में नहीं सोच रहा हूं, केवल मुंबई टीम और इस टूर्नामेंट पर ध्यान केंद्रित कर रहा हूं। मेरा व्यक्तिगत ऐसा कोई लक्ष्य नहीं है। लेकिन मैं खुद के लिए और टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन करना चाहूंगा। पिछले प्रदर्शन का टीम कोई दबाव नहीं है।

 

रणजी ट्रॉफी और वन-डे में कुछ खास नहीं कर सकीं मप्र टीम अपने नए कप्तान रजत पाटीदार के नेतृत्व में घरेलू मैदान पर नई शुरुआत करना चाहेगी। मप्र का फटाफट प्रारूप में पहला मैच सशक्त पंजाब से होगी। मप्र टीम में युवा और अनुभवी खिलाड़ियों का अच्छा तालमेल है। तेज गेंदबाज आवेश खान और ईश्वर पांडे पर जल्द सफलता दिलाने की जिम्मेदारी होगी।। हम घरेलू हालातों का फायदा उठाने की कोशिश करेंगे। पंजाब टीम की कमान दिग्गज ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह के हाथों में हैं। हरफनमौला युवराज सिंह, शुभमन गिल जैसे सितारा खिलाड़ी भी टीम में हैं, जिनकी चुनौती से पार पाना मेजबान टीम के लिए आसान नहीं होगा।

 

 

मप्र के कप्तान रजत पाटीदार ने कहा कि मैं पहली बार कप्तानी संभाल रहा हूँ। मैत्री मैचों में कप्तानी की है, लेकिन अब बड़ी जिम्मेदारी मेरे कंधों पर है। कानी का बोझ बल्लेबाजी पर नहीं आने दूंगा। सीनियर खिलाड़ियों नमन, ईश्वर से मुझे मदद मिलती है। उन्होंने कहा कि हम एक बार मे एक मैच के बारे में सोच रहे हैं। शुरुआती तीनों मैच महत्वपूर्ण हैं। अगर इनमें अच्छा किया तो नॉकआउट में पहुंचने की हमारी उम्मीदें पक्की हो जाएंगी। पंजाब मजबूत टीम है। हरभजन, युवराज, शुभमन जैसे खिलाड़ी उनकी टीम में हैं। हमारी टीम भी अच्छी है। हरभजन ने कहा कि भले ही हमारी टीम मजबूत है लेकिन हम किसी भी टीम को हल्के में नहीं लेंगे।

 

मप्र टीम अपनी तैयारी को अंतिम रूप दे चुकी है जबकि पंजाब ने बल्लेबाजी के साथ क्षेत्ररक्षण पर विशेष ध्यान दिया है।  हालांकि इससे पहले पंजाब टीम आ गई थी लेकिन उसकी किट नहीं आई थी। जिससे खिला़़डी अभ्यास के दौरान किट में नहीं दिखी। टीम की किट बुधवार को पहुंची।