मिजोरम के मुख्य मंत्री ने केंद्रीय मंत्री को लिखा पत्र, इस मामले को लेकर जताई नराजगी

Daily news network Posted: 2019-06-24 17:16:28 IST Updated: 2019-06-24 21:25:03 IST
मिजोरम के मुख्य मंत्री ने केंद्रीय मंत्री को लिखा पत्र, इस मामले को लेकर जताई नराजगी

इम्फाल

मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरामथांगा ने नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी को पत्र लिख राज्य में  हवाई जहाज के किराया में की गई बढ़ोत्तरी को कम करने की मांग की है। नागरिक उड्डयन विभाग के प्रधान समन्वयक विंग कामांडर जो लालमींगलियाना ने कहा कि मुख्यमंत्री का पत्र संबंधित मंत्रालय को आज सौंप दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने इस पत्र के माध्यम से संबंधित मंत्री से हवाई जहाज के किराया को घटाने के संबंध में लिखे थे।

 


उन्होंने लिखा था कि मिजोरम के लोगों को कोलकाता जाने का एकमात्र साधन हवाई जहाज ही है लेकिन सरकार के द्वारा हवाई जहाज की किराये में बढ़ोत्तरी करने के कारण आम लोगों की पहुंच से दूर होता जा रहा है। उन्होंने कहा कि कोलकाता से इंफाल व इंफाल से आईजोल जाने के लिए हवाई जाहाज पर ही राज्य के लोग निर्भर रहते हैं। केंद्र के द्वारा इन मार्गों के किराया को अत्यधिक बढ़ाने के कारण लोगों पर अत्यधिक बोझ बढ़ गया है और लोग अब आने जाने के लिए सोचते हैं।

 

 

 उन्होंने कहा कि एक समान दूरी के लिए मिजोरम के लोगों को अधिक किराया देना पड़ रहा है जो कि भारतीय संविधान की अनुच्छेद 14 का सरासर उल्लंघन है। इस अनुच्छेद के तहत सभी को एकरूपता का अधिकार मिला हुआ है। लालमीहिंगला के अनुसार और सभी मार्गों के मुकाबले एयर इंडिया ने सबसे ज्यादा आईजोल-कोलकाता व आईजोल-इंफाल मार्गों के किराया बढ़ाया है। आईजोल-कोलकता की दूरी 241 माईल है जिसका किराया 13,795 रुपए है। वहीं गुवाहाटी-कोलकाता के बीच की दूरी लगभग इसके बराबर ही है (268 मईल) है जिसका किराया 4900 रुपए है।


 आईजोल-इंफाल मार्ग की दूरी मात्र 90 माईल है जिसका किराया 7950 रुपया है वहीं कोलकाता-इंफाल मार्ग की दूरी 325 माईल है जिसका किराया मात्र 3800 से 3900 रुपया है। आपको बता दें की इंफाल-आईजोल मार्ग की पहले का किराया 2995 था  वहीं आईजोल-कोलकाता मार्ग का किराया 3495 था।