यहां 40 विधायकों में 36 करोड़पति, सिर्फ दो दागी

Daily news network Posted: 2018-12-13 13:45:34 IST Updated: 2018-12-13 13:45:34 IST
यहां 40 विधायकों में 36 करोड़पति, सिर्फ दो दागी
  • मिजोरम में नव निर्वाचित 40 विधायकों में से 36 करोड़पति हैं जबकि विधानसभा सदस्यों की औसत संपत्ति 3 करोड़ से बढक़र करीब 5 करोड़ हो गई है।

आईजोल।

मिजोरम में नव निर्वाचित 40 विधायकों में से 36 करोड़पति हैं जबकि विधानसभा सदस्यों की औसत संपत्ति 3 करोड़ से बढक़र करीब 5 करोड़ हो गई है। एक अध्ययन में बुधवार को यह बात सामने आई। हालांकि नई विधानसभा में एक भी महिला विधायक नहीं है। सबसे ज्यादा 22 करोड़पति विधायक मिजो नेशनल फ्रंट(एमएनएफ)के हैं। असोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म(एडीआर) ने अपनी रिपोर्ट में यह जानकारी दी है।

 

 

 


आपको बता दें कि मिजोरम में एमएनएफ की 10 साल बाद सत्ता में वापसी हुई है। विधानसभा चुनाव में एमएनएफ ने अपने दम पर पूर्ण बहुमत हासिल कर लिया जबकि  तमाम एग्जिट पोल में त्रिशंकु विधानसभा की स्थिति बताई जा रही थी। मिजोरम में विधानसभा की कुल 40 सीटें हैं। इनमें से 26 पर एमएनएफ ने जीत दर्ज की। बहुमत के लिए 21 सीटें चाहिए थी।

 

 


 2013 के विधानसभा चुनाव में 34 सीटें जीतने वाली कांग्रेस का एक तरह से सूपड़ा साफ हो गया और वह सिर्फ 5 सीटों पर सिमट गई। 25 साल बाद भाजपा का भी खाता खुला है। उसने एक सीट जीती है। भाजपा ने 39 उम्मीदवार खड़े किए थे। पिछली विधानसभा में 30 करोड़पति विधायक थे। नई विधानसभा में जो करोड़पति क्लब है उसमें कांग्रेस के पांच, 8 निर्दलीय और भाजपा का विधायक भी शामिल है। एडीआर के मुताबिक इनमें से प्रत्येक ने एक करोड़ से ज्यादा की संपत्ति घोषित की थी। रिपोर्ट के मुताबिक मिजोरम विधानसभा के चुनाव में प्रत्येक विधायक की औसत संपत्ति 4.84 करोड़ है। 2013 में प्रत्येक विधायक की औसत संपत्ति 3.10 करोड़ थी। 9 ऐसे विधायक हैं जिनकी संपत्ति की कीमत 5 करोड़ से ज्यादा है जबकि दो ने 10 से 50 लाख के बीच संपत्ति घोषित की है। एडीआर ने स्वघोषित चुनावी हलफनामों के हवाले से यह जानकारी दी है। एमएनएफ के 26 विधायकों की औसत संपत्ति 4.97 करोड़ है और कांग्रेस के पांच विधायकों की औसत संपत्ति 5.13 करोड़ है।

 

 

 


8 निर्दलीय विधायकों की औसत संपत्ति 4.39 करोड़ है। वहीं भाजपा के एक मात्र विधायक ने 3.31 करोड़ की संपत्ति घोषित की थी। आपराधिक रिकॉर्ड के संबंध में एडीआर का कहना है कि सिर्फ दो विधायक(दोनों एमएनएफ के हैं) ने अपने खिलाफ चल रहे आपराधिक मामलों की घोषणा की है। 10 विधायकों ने अपनी शैक्षणिक योग्यता 5 वीं से 12 वीं क्लास के बीच बताई है जबकि 29 निर्वाचित विधायकों की एजुकेशनल क्वालिफिकेशन ग्रैजुएट या उससे ऊपर है।