मेघालय: सत्ता का खेल, खतरे में है ईसाई समुदाय

Daily news network Posted: 2018-01-12 14:43:27 IST Updated: 2018-01-12 17:10:15 IST
  • मेघालय में भाजपा के बढ़ते जनाधार को देखते हुए कांग्रेस ने राज्य की जनता से अपील की है कि राज्य को भगवा होने से बचाआे।

शिलांग।

मेघालय में भाजपा के बढ़ते जनाधार को देखते हुए कांग्रेस ने राज्य की जनता से अपील की है कि राज्य को भगवा होने से बचाआे। शिलांग में आयोजित महिला कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए अखिल भारतीय कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष आैर सांसद सुष्मिता देव ने कहा कि राज्य में भाजपा को सत्ता में आने से रोका जाए। उन्होंने कहा कि मेघालय र्इसार्इ बहुल राज्य है आैर भाजपा की सरकार आने से ये समुदाय खतरे  में आ सकता है। कांग्रेस सांसद सुष्मिता ने देश में कर्इ राज्यों में गिरिजाघरों आैर र्इसार्इ समुदायों पर हुुर्इ घटनाआें का जिक्र करते हुए फिर से कांग्रेस सरकार का गठन करने का सहयोग मांगा है।

 

 

 


 उन्होंने कहा कि भाजपा भाषा आैर संप्रदाय के नाम पर विभाजनकारी राजनीति कार्ड खेलती है। वहीं कांग्रेस सभी को साथ लेकर चलती है। जहां भाजपा विकास के मुद्दे से हटकर बात करती है वहीं कांग्रेस सभी को विकास से जोड़ने की बात करती है। इसके अलावा सुष्मिता ने कहा कि एनपीपी भाजपा की बी टीम है। उन्होंने राज्यवासियों से कहा कि एनपीपी को वोट देने का मतलब है कि आरएसएस जैसे संघ को राज्य में  फलने फूलने देने का मौका देना।

 

 

 



उन्होंने कहा कि भाजपा जिस गुजरात माॅडल की बात करती है वास्तव में वह सच नहीं है, मैने खुद गुजरात जाकर देखा है कि वहां विकास हुआ ही नहीं है। 2019 में भाजपा की केंद्र से विदार्इ तय है आैर एेसे में किसी दूसरी पार्टी का सत्ता में आने से प्रदेश को नुकसान हाे सकता है। इसके अलावा सम्मेलन में मौजूद विसेंट पाला ने राज्यवासियों से कहा कि मोदी आैर भाजपा की बातों में न आये। मोदी की नीतियां देश के लिए घातक है।