अमित शाह ने त्रिपुरा के मंत्रियों को दी जेल भेजने की धमकी, जानिए क्यों

Daily news network Posted: 2018-01-08 17:46:08 IST Updated: 2018-01-08 20:27:57 IST
  • भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार को आरोप लगाया कि त्रिपुरा के कई मंत्री प्रत्यक्ष रूप से चिट फंट घोटालों में शामिल है। अमित शाह ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में अगर भाजपा ने सीपीएम से सत्ता छीन ली तो इन मंत्रियों को जेल भेजा जाएगा।

अगरतला।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार को आरोप लगाया कि त्रिपुरा के कई मंत्री प्रत्यक्ष रूप से चिट फंट घोटालों में शामिल है। अमित शाह ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में अगर भाजपा ने सीपीएम से सत्ता छीन ली तो इन मंत्रियों को जेल भेजा जाएगा। उदयपुर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने रोज वैली चिट फंड घोटाले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की।

 

उन्होंने आरोप लगाया कि लेफ्ट फ्रंट सरकार ने अपने हितों की रक्षा के लिए जांच का आदेश नहीं दिया। अमित शाह ने कहा, एक माह के अंदर भाजपा यहां अगली सरकार बनाएगी। हम उन लोगों की पहचान करेंगे जो भ्रष्टाचार और चिट फंट घोटालों में शामिल है। मैं श्योर हूं कि कई मंत्री चिट फंड घोटालों में शामिल हैं। उन्हें जेल भेजा जाएगा।

 

 

आपको बता दें कि भाजपा अध्यक्ष त्रिपुरा के दौरे पर हैं। राज्य में अगले माह फरवरी में विधानसभा चुनाव होने हैं। मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल 6 मार्च को पूरा हो रहा है। अमित शाह ने सत्तारुढ़ सीपीएम को चेतावनी दी है कि त्रिपुरा में चुनाव के दौरान हिंसा फैलाने की उनकी किसी कोशिश को छोड़ा नहीं जाएगा।उन्होंने कहा कि जितना हिंसा फैलाओगे उनका ही कमल खिलेगा। देश में हर कहीं कम्यूनिस्टों को खारिज कर दिया गया लेकिन त्रिपुरा में कांग्रेस का भी वही हाल होगा। अब कमल के खिलने का वक्त है। जहां कहीं आप देखेंगे आपको सिर्फ कमल दिखेगा। यह त्रिपुरा में भी खिलेगा। आपको बता दें कि त्रिपुरा के अलावा सीपीएम केरल में भी सत्ता में हैं।

 

 

कुलई में एक रैली के दौरान भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि त्रिपुरा में शासन में बदलाव बहुत जरुरी है क्योंकि मौजूदा सरकार महिलाओं के खिलाफ अपराध और बेरोजगारी सहित कई मोर्चों पर विफल रही है। अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस और कम्यूनिस्टों की ओर से शासित राज्यों में उन्होंने विकास की कमी देखी लेकिन  भ्रष्टाचार खूब देखा है। विकास और भ्रष्टाचार मुक्त शासन के मामले में भाजपा शासित राज्य काफी आगे हैं। भाजपा सिर्फ बदलाव के लिए बदलाव नहीं चाहती। हम शासन में गुणात्मक बदलाव चाहते हैं ताकि लोगों की जिंदगी में सुधार हो। बकौल शाह,यहां जमा भारी भीड़ को देखकर मुझे महसूस हुआ है कि राज्य में बदलाव अनिवार्य है। महिलाओं के खिलाफ अपराध बहुत ज्यादा हैं। राज्य में कानून का शासन ही नहीं है। अपराध सीपीएम शासन का पर्याय बन गया है।भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि त्रिपुरा की कुल आबादी 36 लाख है लेकिन राज्य में सात लाख बेरोजगार हैं।