हथियार गायब होने के मामले में किसी को नहीं जाएगा बख्शा-एन बिरेन सिंह

Daily news network Posted: 2018-04-08 10:47:57 IST Updated: 2018-04-09 09:47:15 IST
हथियार गायब होने के मामले में किसी को नहीं जाएगा बख्शा-एन बिरेन सिंह
  • मणिपुर राइफल्स के शिविर से गायब हुए हथियारों के मामले में मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह ने कहा है कि मामले की पूरी तरह से जांच की जाएगी

इंफाल

मणिपुर राइफल्स के शिविर से गायब हुए हथियारों के मामले में मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह ने कहा है कि मामले की पूरी तरह से जांच की जाएगी और मामले में शामिल लोगों से कड़ी से कड़ी सजा दी जाएगी। मणिपुर सरकार ने इससे पहले 2 मणिपुर राइफल्स शस्त्रागार से हथियार गायब होने के मामले में एक आईपीएस अधिकारी सहित चार पुलिस अधिकारियों को निलंबित कर दिया था।

 

 


 


मुख्यमंत्री ने इंफाल में एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि सरकार हथियार गायब होने के मामले में सच्चाई का पता लगाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेगी। उन्होंने बताया कि यह पाया गया था कि गत वर्ष दो मार्च को असम राइफल्स द्वारा बरामद की गई 9 एमएम की पिस्तौल उन 56 हथियारों में शामिल थी, जो शस्त्रागार से गायब हो गए थे। मुख्यमंत्री ने दावा किया कि ऐसी घटानाएं पूर्ववर्ती सरकार द्वारा भर्ती प्रक्रियाओं में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार के चलते सामने आती हैं।

 

 




बता दें कि हथ‍ियार गायब होने के मामले में मणिपुर राइफल्‍स के एक आईपीएस अध‍िकारी समेत 4 अधिकार‍ियों को न‍िलंब‍ित किया जा चुका है। हथ‍ियार गायब होने का यह मामला साल 2014 का है, जिसमें 56 ऑटो 9 MM पिस्टल्स और 58 मैगेजीन के गायब होने का पता चला था। गायब हुए हथियार राज्य पुलिस मुख्यालय को 2014 में प्राप्त हुई 570 पिस्तौलों की खेप का हिस्सा थे, जिनकी आपूर्ति दूसरी मणिपुर रायफल्स को की जानी थी। मणिपुर के सीएम ने इस मामले की जांच एनआईए सौंपी है।