Loksabha Election: राहुल ने खोला 'वादों का पिटारा', जनता से वोट

Daily news network Posted: 2019-03-21 09:58:28 IST Updated: 2019-03-21 09:58:28 IST
Loksabha Election: राहुल ने खोला 'वादों का पिटारा', जनता से वोट
  • कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने त्रिपुरा में चुनाव अभियान शुरू करने के बाद खुमलंग के जनजाति स्वायत्त जिला परिषद (एडीसी) मुख्यालय में एक रैली में कई वादे किये पार्टी प्रत्याशियों के लिए लोगों से वोट मांगे।

अगरतला।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने त्रिपुरा में चुनाव अभियान शुरू करने के बाद खुमलंग के जनजाति स्वायत्त जिला परिषद (एडीसी) मुख्यालय में एक रैली में कई वादे किये पार्टी प्रत्याशियों के लिए लोगों से वोट मांगे। उन्होंने कहा कि त्रिपुरा में इस बार कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार सत्ता में आएगी क्योंकि भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) ने यहां के लोगों को धोखा दिया है।

 


 सरकार ने कोई भी चुनावी वादा पूरा नहीं किया है और पूरे देश में भाजपा के शासन में आम लेागों का जीवन संकटमय हो गया है। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि पिछले लोकसभा चुनाव के पहले श्री मोदी ने प्रत्येक वर्ष दो करोड़ नौकरियां देने का वादा किया था लेकिन पांच वर्षों बाद लोग उनसे इस सवाल का जवाब चाहते हैं कि अब तक मोदी सरकार ने कितनी नौकरियां उपलब्ध कराई हैं।

 


 त्रिपुरा में भाजपा सरकार अभी तक 7.5 लाख बेरोजगार लोगों को नौकरियां उपलब्ध कराने में सक्षम नहीं हो पाई है। भाजपा के शासन में कोई भी खुश नहीं है। उन्होंने कहा, 'अगर कांग्रेस सत्ता में आती है तो हम देश में गरीब बेरोजगारों के लिए न्यूनतम आय गारंटी योजना शुरू करेंगे। हमने नागरिकता (संशोधन) विधेयक को रोकने का वादा किया है और हमने राज्यसभा में ऐसा किया भी है। कांग्रेस देश में इस तरह के विधयक को लाने की अनुमति नहीं देगी।'


 गांधी ने कहा कि मोदी सरकार ने पूर्वोत्तर राज्यों से विशेष श्रेणी का दर्जा छीन लिया है जिससे क्षेत्र का विकास बुरी तरह प्रभावित हुआ है और कांग्रेस क्षेत्र के तेज विकास के लिए इस दर्जे को वापस प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर किसानों, छोटे व्यापारियों और सीमित आय वाले लोगों के लिए पर्याप्त काम नहीं करने का आरोप भी लगाया।


 उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने पिछले पांच वर्षों में जो भी काम किया वह अमीर और कॉर्पोरेट के लेागों का सहायता पहुंचाने के लिए किया जबकि कांग्रेस ने गरीबों और समाज के वंचित समूहों के लिए मनरेगा जैसी कई येाजनाओं को लागू किया था। त्रिपुरा कांग्रेस अध्यक्ष प्रद्योत किशोर देववर्मन ने कहा कि वाम दलों के शासन और भाजपा के शासन में कोई बुनियादी अंतर नहीं है। इनमें से किसी भी पार्टी के अंदर लोकतंत्र नहीं है। वर्तमान सरकार भ्रष्ट और अपराधियों को बचाने का काम कर रही है।