लोकसभा चुनाव 2019: 542 सीटों के लिए वोटिंग संपन्न, देश को 23 का बेसब्री से इंतजार

Daily news network Posted: 2019-05-20 13:59:29 IST Updated: 2019-05-20 13:59:29 IST
लोकसभा चुनाव 2019: 542 सीटों के लिए वोटिंग संपन्न, देश को 23 का बेसब्री से इंतजार
  • सत्रहवीं लोकसभा की 543 सीटों में से 542 सीटों के लिए वोटिंग संपन्न हो चुकी है। इस चुनाव में पहले चरण का मतदान 11 अप्रैल से 19 मई के बीच सात चरणों में हुए। नतीजे 23 मई को घोषित किए जाएंगे।

सत्रहवीं लोकसभा की 543 सीटों में से 542 सीटों के लिए वोटिंग संपन्न हो चुकी है। इस चुनाव में पहले चरण का मतदान 11 अप्रैल से 19 मई के बीच सात चरणों में हुए। नतीजे 23 मई को घोषित किए जाएंगे। इस बार चुनाव काफी दिलचस्प रहा। नेताओं के बीच आरोप-प्रत्यारोप खूब देखने को मिला। 10 मार्च को चुनाव की घोषणा के साथ ही पूरे देश में आदर्श आचार संहिता लागू हो गयी थी।

 

  

 कुल सात चरणों में मतदान होगा जिसमें पहले चरण के लिए 11 अप्रैल को मत डाले गए। सातवें और अंतिम चरण का मतदान 19 मई को हुआ। मतों की गणना 23 मई को की जायेगी। दूसरे चरण का मतदान 18 अप्रैल को, तीसरे चरण का 23 अप्रैल को, चौथे चरण का 29 अप्रैल को, पाँचवें चरण का छह मई का और छठे चरण का 12 मई का हुए।

 


 बता दें कि करीब 90 करोड़ मतदाता इस चुनाव में अपने मताधिकार के योग्य थे। पिछले चुनाव की तुलना में 8.34 करोड़ नये मतदाता बने हैं जिसमें से डेढ़ करोड़ 18 से 19 वर्ष की आयु के हैं।


 

 पहले चरण में 20 राज्यों की 91 सीटों, दूसरे चरण में 13 राज्यों की 97 सीटों, तीसरे चरण में 14 राज्यों की 115 सीटों, चौथे चरण में नौ राज्यों की 71 सीटों, पाँचवें चरण में सात राज्यों की 51 सीटों, छठे चरण में सात राज्यों की 59 सीटों और सातवें चरण में सात राज्यों की 59 सीटों पर मतदान हुए।

 


 इस बार सभी मतदान केंद्रों पर वीवीपैट का इस्तेमाल किया गया। ईवीएम मशीनों पर प्रत्याशियों के चुनाव चिह्न और नाम के साथ उनके फोटो भी जारी की गई ताकि मतदाताओं को आसानी हो।

 


  

 पहला चरण 11 अप्रैल, 91 सीट, 20 राज्य

 आंध्र प्रदेश-24, अरुणाचल प्रदेश-2, असम-5, बिहार-4, छत्तीसगढ़-1, जम्मू-कश्मीर-2, महाराष्ट्र-7, मणिपुर-1, मेघालय-2, मिजोरम-1, नागालैंड-1, ओडिशा-4, सिक्किम-1, तेलंगाना-17, त्रिपुरा-1, यूपी-8, उत्तराखंड-5, पश्चिम बंगाल-2, अंडमान ऐंड निकोबार-1 और लक्षद्वीप-1 सीट पर वोटिंग हुई।

 

 


 दूसरे चरण का मतदान 18 अप्रैल, 97 लोकसभा सीटें, 13 राज्य

 असम-5, बिहार-5, छत्तीसगढ़-3, जम्मू-कश्मीर-2, कर्नाटक-14, महाराष्ट्र-10, मणिपुर-1, ओडिशा-5, तमिलनाडु की सभी 39, त्रिपुरा-1, उत्तर प्रदेश-8, पश्चिम बंगाल-3 और पुदुचेरी की 1 सीट के लिए 18 अप्रैल को वोटिंग हुई।

 


 

 तीसरे चरण का मतदान 23 अप्रैल, 115 लोकसभा सीटें 14 राज्य

 तीसरे चरण में असम-4, बिहार-5, छत्तीसगढ़-7, गुजरात-26, गोवा-2, जम्मू-कश्मीर-1, कर्नाटक-14, केरल-20, महाराष्ट्र-14, ओडिशा-6, यूपी-10, पश्चिम बंगाल-5, दादरा और नागर हवेली-1, दमन दीव-1 सीट पर 23 अप्रैल को डाले गए वोट।

 


 

 चौथे चरण का मतदान 29 अप्रैल 71 लोकसभा सीटें 9 राज्य

 बिहार में 5, झारखंड 1, मध्य प्रदेश 6, महाराष्ट्र 17, ओडिशा 6, राजस्थान 13, उत्तर प्रदेश 13, पश्चिम बंगाल की 8 सीटों पर हुए चुनाव।

 


 

 पांचवें चरण का मतदान 6 मई 51 लोकसभा सीटें, 7 राज्य

 बिहार में 5, झारखंड में 4, जम्मू कश्मीर की 2, राजस्थान की 12, उत्तर प्रदेश की 14, पश्चिम बंगाल की 7 और मध्य प्रदेश की 14 सीटों पर हुए चुनाव।

 


 छठे चरण का मतदान 12 मई 59 लोकसभा सीटें, 7 राज्य

 बिहार की 8 सीटों पर, हरियाणा की 19 सीटों पर, झारखंड की 4 सीटों, मध्य प्रदेश की 8 सीटों, उत्तर प्रदेश की 14 सीटों, पश्चिम बंगाल की 8 सीटों पर और दिल्ली की 7 सीटों पर हुए चुनाव।

 

 


 सातवें चरण का मतदान 19 मई 59 लोकसभा सीटें, 8 राज्य

 बिहार की 8 सीट, झारखंड की 3 सीटों, मध्य प्रदेश 8 सीट, पंजाब की 13 सीट, पश्चिम बंगाल की 9 सीटों, चंडीगढ़ की 1 सीट, उत्तर प्रदेश की 13 सीट और हिमाचल प्रदेश की 4 सीटों पर हुआ मतदान।

 


 इसके साथ ही अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम में भी लोकसभा चुनावों के साथ ही विधानसभा चुनाव संपन्न हुए।