नेताओं ने ट्विटर पर दी चानू को गोल्डन जीत की बधाई

Daily news network Posted: 2018-04-05 17:59:55 IST Updated: 2018-04-05 18:20:02 IST
नेताओं ने ट्विटर पर दी चानू को गोल्डन जीत की बधाई
  • 23 साल की मीराबार्इ चानू ने ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में राष्ट्रमंडल खेलों में 48 किलोवर्ग के भारोत्तोलन में गोल्ड मेडल जीत लिया है।

23 साल की मीराबार्इ चानू ने ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में राष्ट्रमंडल खेलों में 48 किलोवर्ग के भारोत्तोलन में गोल्ड मेडल जीत लिया है। स्नैच राउंड में पहले उन्होंने 80, फिर 84 और तीसरी बार में 86 किलो भार उठा कर अपने लिए स्वर्ण पदक सुरक्षित किया। इसके साथ ही उन्होंने अपना खुद का ही रिकॉर्ड तोड़ दिया है। स्नैच कैटगरी में वो पहले ही 48 किलो भार अधिक उठाने में आगे चल रही थीं। 86 किलो भार उठा कर उन्होंने कॉमनवेल्थ गेम्स का रिकॉर्ड भी कायम किया है। 

 

 

इसके बाद क्लीन एंड जर्क राउंड में मीराबाई चानू ने पहली कोशिश की और 103 किलोग्राम उठाया। दूसरी बार उन्होंने अपने ही पिछले कॉमनवेल्थ गेम्स के 103 के रिकॉर्ड को तोड़ कर 107 किलोग्राम उठाया। तीसरी बार मीराबाई ने 110 किलो उठा कर औरों से 13 किलोग्राम की बढ़त हासिल कर ली। दूसरे स्थान पर रहीं मॉरीशियस की मारिया हानिट्रा रोलिया, जिनका टोटल रहा 170 किलो। मीराबार्इ की इस गोल्डन जीत पर राजनेताआें ने उन्हें बधार्इ  दी है।

 

 

सबसे पहले मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने अपने ट्विटर अकाउंट पर मीराबार्इ चानू को बधार्इ दी। उन्होंने लिखा मीराबार्इ चानू ने 48 किग्रा वेटलिफ्टिंग कैटेगरी में भारत के नाम पहला गोल्ड किया। भारत को ये सफलता दिलाने के लिए हमें आप पर गर्व है।

 

 


 इसके बाद पीएम नरेद्र मोदी ने भी चानू को बधार्इ दी है। उन्होंने लिखा कि भारत का पहला गोल्ड मेडल जीतने के लिए आैर सीडब्ल्यूजी के तीन रिकॉर्ड तोड़ने के लिए बधार्इ हो। भारत को इन उपलब्धियों पर खुशी है।

 

 

 पीएम माेदी के बाद अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने भी चानू को बधार्इ दी है। खांडू ने लिखा कि 21वें काॅमनवेल्थ में गोल्ड मेडल जीतने आैर 48 किग्रा में रिकॉर्ड बनाने के लिए बधार्इ हो।

 

 


 इसके साथ ही कॉमनवेल्थ गेम्स के आधिकरिक ट्विटर हैंडल ने ट्वीट किया है कि मीराबाई चानू ने अपने खेल में दो राउंड में कुल 6 बार भार उठाया और हर बार एक नया रिकॉर्ड बनाया। कॉमनवेल्थ गेम्स ने लिखा, "छह कोशिशें, छह बार तोड़े रिकॉर्ड।"