महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध को रोकने में लॉ के छात्र निभाएं अपनी भूमिका

Daily news network Posted: 2018-04-08 16:53:09 IST Updated: 2018-04-08 16:53:09 IST
महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध को रोकने में लॉ के छात्र निभाएं अपनी भूमिका
  • मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने कानून के विद्यार्थियों से समाज में महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराध जैसे अमानवीय क्रिया कलापों को रोकने में सक्रिय सहयोग मांगा है।

गुवाहाटी।

मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने कानून के विद्यार्थियों से समाज में महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराध जैसे अमानवीय क्रिया कलापों को रोकने में सक्रिय सहयोग मांगा है।

 


 शुक्रवार को असम विधानसभा के केंद्रीय कक्ष में डीएचएसके लॉ कालेज डिब्रूगढ़, गुवाहाटी विश्वविद्यालय लॉ कालेज और डिब्रू कालेज, डिब्रूगढ़ के विद्यार्थियों के साथ बातचीत करते हुए सोनोवाल ने समाज में महिलाओं के खिलाफ बढ़ रहे अपराध पर चिंता जताते हुए कानून के छात्रों से उनके अपने इलाकों में इस अमानवीय अपराध के प्रति सामाजिक चेतना लाने में भूमिका अदा करने के लिए कहा।

 

 मुख्यमंत्री ने छात्र-छात्राओं से कठोर परिश्रम करके अपने जीवन में आगे बढ़ने के साथ अपने देश-प्रदेश और समाज को आगे बढ़ाने में योगदान देने के लिए कहा ताकि एक बेहतर समाज बन सके।

 मुख्यमंत्री ने प्रदेश में कानून के शासन की स्थापना के लिए सरकार का प्रयास और नारी अपराध को रोकने के लिए राज्य के प्रत्येक जिले में विशेष फास्ट ट्रैक कोर्ट के गठन के बारे में कानून की पढ़ाई करने वाले छात्रों से कहा कि वे केवल व्यक्तिगत स्वार्थ के लिए नहीं बल्कि समाज के लिए भी कुछ करें। क्योंकि मूल्यबोध पर आधारित समाज ही नारी अपराध, कुसंस्कृति और भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठा सकता है।

 मुख्यमंत्री ने छात्रों के साथ रोजगार के मुद्दे पर चर्चा करते हुए कहा कि युवाओं को रोजगार देने के लिए सरकार लगातार कदम उठा रही है और अब तक करीब 50 हजार शिक्षित बेरोजगारों को नौकरी मिली है।


 कानून के छात्रों के साथ मुख्यमंत्री की हुई इस बातचीत के दौरान संसदीय कार्यमंत्री चंद्र मोहन पटवारी, कृषि मंत्री अतुल बोरा, जलसंसाधन मंत्री केशव महंत, विधायक प्रशांत फूकन, रितुपर्णा बरुवा और राज्य सरकार के अन्य अधिकारी उपस्थित थे।