'त्रिपुरा में पिछले साल जलकर खाक हुई 13.54 करोड़ रु. की संपत्ति'

Daily news network Posted: 2018-04-17 17:29:52 IST Updated: 2018-04-17 19:22:12 IST
'त्रिपुरा में पिछले साल जलकर खाक हुई 13.54 करोड़ रु. की संपत्ति'
  • त्रिपुरा के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने आग पर जल्द काबू पाने के लिए बेहतर निवारक उपायों का आह्वान करते हुए कहा कि त्रिपुरा में पिछले साल करीब 13.5 करोड़ रुपए की संपत्ति आग में जलकर खाक हुई है।

त्रिपुरा के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने आग पर जल्द काबू पाने के लिए बेहतर निवारक उपायों का आह्वान करते हुए कहा कि त्रिपुरा में पिछले साल करीब 13.5 करोड़ रुपए की संपत्ति आग में जलकर खाक हुई है।


 बता दें कि राज्य 14 अप्रैल से फायर सर्विस वीक का जश्न मना रहा है। मंगलवार को एक लिखित संदेश में मुख्यमंत्री ने कहा कि आग की घटनाओं ने हर साल मानव जीवन और संपत्ति को भारी नुकसान पहुंचाया है।


 उन्होंने कहा पिछले साल हमारे राज्य में आग की कई घटनाएं हुईं थीं, जिसमें 13,54,37,620 करोड़ की संपत्ति नष्ट हो गई थी। इसलिए, बाद में पश्चाताप करने के बजाय जीवन और संपत्ति की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्धात्मक उपाय करना बेहतर है। त्रिपुरा 14 से 20 अप्रैल तक फायर सर्विस वीक मनाया जा रहा है।


 मुख्यमंत्री देव ने कहा है कि त्रिपुरा में 48 अग्निशमन केंद्र हैं और उन सभी में अग्नि सुरक्षा उपायों की व्यापक जागरूकता और प्रचार की जरूरत है। उन्होंने कहा, 'रोकथाम हमेशा एक बेहतर विकल्प है।'


 इस बीच, भाजपा ने यह दावा किया कि सीपीएम ने भाजपा और आईपीएफटी के खिलाफ सौ से अधिक हमलों में कार्यालयों और ट्रेड यूनियन कार्यालयों को नुकसान पहुंचाया है। जिसके लिए हथियार बंद लोगों को प्रशिक्षित किया गया था। ये हमले तीन मार्च को विधानसभा चुनाव परिणाम घोषित किए जाने के बाद शुरू हो गए।


 हालांकि, भाजपा ने इन सीपीए के द्वारा लगाए गए आरोपों से इनकार करते हुए कहा कि भाजपा ने सीपीएम समर्थकों पर हमले नहीं करवाए हैं। सीपीएम के सभी आरोप निराधार हैं।