'विक्रेताओं के लालच के कारण सिक्किम में हुई सब्जियों की किल्लत'

Daily news network Posted: 2018-04-10 15:35:04 IST Updated: 2018-04-10 22:07:18 IST
  • सिक्किम के मुख्यमंत्री पवन कुमार चामलिंग ने गैर कार्बनिक कृषि उत्पादों पर प्रतिबंध लगाने के कदम पर अपनी सरकार का बचाव करते हुए सोमवार को कहा कि राज्य में सब्जियों के संकट के लिए विक्रेता दोषी हैं।

सिक्किम के मुख्यमंत्री पवन कुमार चामलिंग ने नॉन आर्गेनिक कृषि उत्पादों पर प्रतिबंध लगाने के कदम पर अपनी सरकार का बचाव करते हुए सोमवार को कहा कि राज्य में सब्जियों के संकट के लिए विक्रेता दोषी हैं।


 बता दें कि सिक्किम सरकार ने 1 अप्रैल से नॉन आर्गेनिक कृषि और बागवानी उत्पादों की बिक्री और खपत पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया था। मुख्यमंत्री चामलिंग ने वर्तमान संकट को एक अस्थाई संकट बताया।


 उन्होंने कहा, 'मुनाफाखोरी के लिए लालच के कारण सब्जी विक्रेता जैविक कृषि और बागवानी वस्तुओं को बेचने के इच्छुक नहीं हैं। यह उपाय लोगों और पर्यावरण के हित में किया गया था।'


 उन्होंने कहा कि एक सीमावर्ती राज्य होने के बावजूद यहां शांति है, जो एक उदाहरण है। एक सामारोह के दौरान उन्होंने कहा, 'सिक्किम के लोग पूरी तरह से भारत के संघ के साथ शारीरिक और भावनात्मक रूप से जुड़े हुए हैं।


 उन्होंने कहा, 'सिक्किम समेत पूर्वोत्तर राज्यों के लोगों के साथ अन्य राज्यों के लोगों द्वारा व्यापक रूप से भेदभाव किया जाता है। हम सभी को दर्द होता है जब पूर्वोत्तर राज्य के लोगों का बाहर मज़ाक उड़ाया जाता है और एक विदेशी के रूप में व्यवहार किया जाता है।' उन्होंने आगे कहा हम सभी दूसरे राज्यों के लोगों की तरह भारतीय है और हम भी उसी तरह का सम्मान चाहते हैं।


 आपको बता दें कि सिक्किम सरकार ने राज्य में सब्जियों के संकट को देखते हुए फिलहाल प्रतिबंध हटा लिया है। प्रतिबंध के कारण पश्चिम बंगाल से सब्जियों का आयात नहीं हो पा रहा था। इस वजह से बंगाल के किशान काफी परेशान थे।