कोविंद ने दी फखरुद्दीन अली अहमद को श्रद्धांजलि

Daily news network Posted: 2018-05-13 18:22:21 IST Updated: 2018-05-13 18:22:21 IST
कोविंद ने दी फखरुद्दीन अली अहमद को श्रद्धांजलि
  • राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रविवार को पूर्व राष्ट्रपति फखरुद्दीन अली अहमद को उनकी जयंती पर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रविवार को पूर्व राष्ट्रपति फखरुद्दीन अली अहमद को उनकी जयंती पर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की।

 


 राष्ट्रपति भवन के अनुसार कोविंद ने अहमद को उनकी जयंती पर राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक गरिमापूर्ण समारोह में पुष्पांजलि दी। इस अवसर कोविंद की पत्नी भी उनके साथ थी।

 

 

बता दें कि फख़रुद्दीन अली अहमद का राष्ट्रपति चुना जाना भी भारतवर्ष की धर्मनिरपेक्ष संवैधानिक व्यवस्था का एक ज्वलंत प्रमाण था। 'मुस्लिम वर्ग को स्वतंत्र भारत में सम्मान नहीं प्राप्त हो सकेगा' इस कल्पित आधार के कारण भारत का विभाजन किया गया था। मुस्लिम लीग और उसके नेताओं ने सत्ता लोलुपता के कारण परस्पर सौहार्द्र को भी भारी क्षति पहुंचाई थी। लेकिन फ़ख़रुद्दीन अली अहमद के रूप में जब दूसरा मुस्लिम व्यक्ति भारत का राष्ट्रपति बना तो यह स्पष्ट हो गया कि भारतीय संवैधानिक धर्मनिरपेक्षता का विश्व में कोई सानी नहीं है। वे भारत के पांचवें राष्ट्रपति और कार्यकाल के अनुसार यह छठे राष्ट्रपति के रूप में जाने जाते हैं।

 

 फ़ख़रुद्दीन अली अहमद का जन्म 13 मई, 1905 को पुरानी दिल्ली के हौज़ क़ाज़ी इलाक़े में हुआ था। इनके पिता का नाम 'कर्नल जलनूर अली अहमद' और दादा का नाम 'खलीलुद्दीन अहमद' था। फ़ख़रुद्दीन अली अहमद के दादा असम के गोलाघाट शहर के निकट कदारीघाट के निवासी थे, जो असम के सिवसागर में स्थित था। इनके दादा का निकाह उस परिवार में हुआ था, जिसने औरंगज़ेब द्वारा असम विजय के बाद औरंगज़ेब के प्रतिनिधि के रूप में असम पर शासन किया था। फ़ख़रुद्दीन अली अहमद के पिता तब अंग्रेज़ सेना में इण्डियन मेडिकल सर्विस के तहत कर्नल के पद पर थे। इन्हें एक घटना के कारण असम छोड़ने पर मजबूर होना पड़ा था।