पोस्ट ऑफिस में इस तरह करें पैसे जमा, जल्द हो जाएंगे मालामाल

Daily news network Posted: 2019-08-25 10:53:16 IST Updated: 2019-08-25 10:53:16 IST
पोस्ट ऑफिस में इस तरह करें पैसे जमा, जल्द हो जाएंगे मालामाल
  • भारतीय पोस्ट ऑफिस पूरे देश में 1.5 लाख से अधिक डाकघरों का नेटवर्क संचालित करता है, जिसके जरिए ग्राहकों को विभिन्न प्रकार की बैंकिंग सेवाएं मिलती हैं। आपको बता दें कि इंडिया पोस्ट ने जिन 9 बचत योजनाओं की पेशकश करता है उनकी जानकारी उसकी आधिकारिक वेबसाइट - indiapost.gov.in पर मौजूद है।

भारतीय पोस्ट ऑफिस पूरे देश में 1.5 लाख से अधिक डाकघरों का नेटवर्क संचालित करता है, जिसके जरिए ग्राहकों को विभिन्न प्रकार की बैंकिंग सेवाएं मिलती हैं। आपको बता दें कि इंडिया पोस्ट ने जिन 9 बचत योजनाओं की पेशकश करता है उनकी जानकारी उसकी आधिकारिक वेबसाइट - indiapost.gov.in पर मौजूद है।


 जी हां, दरअसल इंडिया पोस्ट indiapost.gov.in के मुताबिक इस पर प्रति वर्ष 7.2 % की ब्याज दर मिलती है। बता दें कि इन डाकघर बचत योजनाओं पर ब्याज दरें सरकार की छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों के अनुरूप चलती हैं, जिन्हें तिमाही आधार पर संशोधित किया जाता है।


 मालूम हो कि पोस्ट ऑफिस रेकरिंग डिपॉजिट यानी कि आरडी खाता नकद के साथ-साथ चेक द्वारा भी खोला जा सकता है। दरअसल डाकघर में कितने भी आरडी खाते खोले जा सकते हैं। बता दें कि इसमें खाता नाबालिग के नाम से भी खाता खोला जा सकता है।


 10 वर्ष और उससे अधिक आयु का नाबालिग खाता खोल और संचालित कर सकता है। बता दें कि पोस्ट ऑफिस आरडी खाते की मैच्योरिटी अवधि 5 वर्ष है। हालांकि, इसे वर्ष-दर-वर्ष के आधार पर अगले 5 वर्षों तक जारी रखा जा सकता है। आपको बता दें कि इसे कम से कम 10 रुपये से खोला जा सकता है। खास बात यह है कि पोस्ट ऑफिस रेकरिंग डिपॉजिट में निवेश की कोई अधिकतम सीमा नहीं है।


 मालूम हो कि बाद में जमा अगले महीने के 15 वें दिन तक किया जा सकता है और अगले महीने के अंतिम कार्य दिवस तक यदि खाता किसी कैलेंडर माह के 16 वें दिन और अंतिम कार्य दिवस के बीच खोला जाता है।


 आपको बता दें कि एक वर्ष के बाद शेष राशि के 50 % तक की निकासी की अनुमति है। हालांकि, इसे खाते की मुद्रा के दौरान किसी भी समय निर्धारित दर पर ब्याज के साथ एकमुश्त में चुकाना चाहिए।


 दरअसल मासिक जमा को महीने के किसी भी दिन जमा किया जा सकता है। बता दें कि मासिक किस्त का भुगतान न करने पर चूक हो जाती है तो हर 5 रुपये पर 5 पैसे का डिफ़ॉल्ट शुल्क लिया जाता है।

 


 मालूम हो कि अगर किसी भी आरडी खाते में मासिक डिफ़ॉल्ट राशि है, तो जमाकर्ता को पहले डिफ़ॉल्ट शुल्क के साथ तय मासिक जमा का भुगतान करना होगा और फिर वर्तमान महीने के जमा का भुगतान करना होगा।