असम से छुट्‌टी पर आ रहे फौजी को गन्ने से लदे ट्रैक्टर-ट्राॅली ने कुचला, मौत

Daily news network Posted: 2018-12-06 11:02:39 IST Updated: 2018-12-07 08:53:03 IST
असम से छुट्‌टी पर आ रहे फौजी को गन्ने से लदे ट्रैक्टर-ट्राॅली ने कुचला, मौत
  • नेशनल हाइवे-344 पर गांव धीन के पास एक गन्ने से लदे ट्रैक्टर ट्राॅली ने छुट्‌टी पर आए एक फौजी को अपनी चपेट में ले लिया।

गुवाहाटी।

नेशनल हाइवे-344 पर गांव धीन के पास एक गन्ने से लदे ट्रैक्टर ट्राॅली ने छुट्‌टी पर आए एक फौजी को अपनी चपेट में ले लिया। हादसे में फौजी की मौके पर ही मौत हो गई। मृतक फौजी गुरमीत सिंह (52) गांव खानअहमदपुर का रहने वाला था और छुट्‌टी पर अपने घर खानअहमदपुर आ रहा था। हादसे की सूचना मिलते ही मुलाना पुलिस मौके पर पहुंची और शव को अपने कब्जे में लेकर आगे की कार्रवाई में जुट गई।

 


 मृतक फौजी के भाई गुरदयाल सिंह खान अहमदपुर ने बताया कि उसका भाई गुरमीत सिंह असम के डिब्रूगढ़ में तैनात था। उन्होंने बताया कि वह मंगलवार रात को जहाज से दिल्ली के एयरपोर्ट पर उतरा था। उन्होंने बताया कि वहीं से वह अपने गांव खानअहमदपुर आ रहा था। गांव में बस न रुकने के कारण बुधवार को सुबह वह बस से दोसड़का पर उतरा और वहां से मैक्सी कैब पकड़ कर अपने गांव पहुंच रहा था कि अचानक कुछ दूरी पर ही जाकर मैक्सी कैब खराब हो गई और वह पैदल ही अपने गांव की ओर चलने लगा।

 


 मृतक के भाई गुरदयाल सिंह ने बताया कि उसके भाई ने उन्हें फोन कर दिया था कि उसे लेने के लिए आ जाएं। जैसे ही वह वहां पहुंचा तो एक तेज रफ्तार गन्ने से लदी ट्रैक्टर-ट्राॅली ने उसे चपेट में ले लिया और ट्रैक्टर फौजी गुरमीत सिंह के सिर के ऊपर से निकल गया। मृतक फौजी नायक के पद पर तैनात था।

 


 मृतक फौजी गुरमीत सिंह का बेटा मनप्रीत सिंह भी फौज में ही है और वी उदयपुर में तैनात है। मृतक फौजी के भाई गुरदयाल सिंह ने बताया कि मनप्रीत सिंह के आने के बाद ही मृतक गुरमीत सिंह के शव का अंतिम संस्कार किया जाएगा।