भारत सरकार की महत्वकांक्षी योजना पर जन संवाद

Daily news network Posted: 2018-12-21 13:29:40 IST Updated: 2018-12-21 15:03:20 IST
भारत सरकार की महत्वकांक्षी योजना पर जन संवाद
  • भारत सरकार की सुचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत ब्युरो आॅफ आउटरीच एंड कम्युनिकेशन(बीओसी) की क्षेत्रीय कार्यालय द्वारा यहां शिलाॅंग जेएन काम्पलेक्स, पोलो ग्राउंड में स्थित इंडोर स्टेडियम में राष्ट्रीय पोषण अभियान...

शिलोंग

भारत सरकार की सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय  के अंतर्गत ब्युरो आॅफ आउटरीच एंड कम्युनिकेशन(बीओसी) की क्षेत्रीय कार्यालय द्वारा यहां शिलाॅन्ग जेएन काम्पलेक्स, पोलो ग्राउंड में स्थित इंडोर स्टेडियम में राष्ट्रीय पोषण अभियान पर एक विशेष कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय पोषण मिशन(पोषण अभियान) पर जनता को जागरूक करना है।



 

 


शुरूआत में मुख्य अतिथि के रूप में डीडीके, शिलॅांग स्टेशन के निदेशक टी हिनुविता ने कहा कि न केवल बच्चों को पौष्टिक भोजन मिलना चाहिए बल्कि माताओं को भी इसकी जरूरत हैं। उन्होंने यह भी कहा कि स्वस्थ जीवन शौली के लिए पारंपरिक पौष्टिक भोजन करने की आवश्यकता है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि बीओसी को सरकार द्वारा एेसे कार्यक्रम आयोजित करने के लिए दायित्व सौंपा गया है ताकि प्रमुख योजनाओं पर लाभार्थियों तक जानकारियां प्रसारित की जा सके।





कार्यक्रम में विशेष अतिथि के रूप में मौजूद नार्थ ईस्टर्न सर्विस एआईआर, शिलाॅन्ग कार्यक्रम के प्रमुख जे गंगटे कहा कि यह विशेष रूप से 6 साल के बच्चों को स्वस्थ रखने के लिए संदेश फैलाने की एक महत्वपूर्ण योजना है। सभी को समान रूप से लाभान्वित किया गया है और वे इस कार्यक्रम के माध्यम से लोगों को संदेश भी फैला सकते हैं। सामाज कल्याण विभाग के निदेशक इ खर्मल्की ने पोषण अभियान का मुख्य उद्देश्य 6 साल के किशोर-किशोरियों, गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं से बच्चों की पोषण संबंधी जानकारियां देना है। यह जरूरतमंद और कुपोषण रोकथाम के लिए भी एक महत्वपूर्ण पहल है।




उन्होंने कहा कि हमें राष्ट्रीय पोषण मिशन(पोषण अभियान) को सफल बनाने के लिए आंगनवाड़ी केंद्र और आंगनवाड़ी कर्मियों द्वारा सामना की जाने वाली चुनौतियों का समाधान करने की जरूरत है। समारोह में आॅल इंडिया रेडियो, दूरदर्शन केंद्र,बीओसी गुवाहाटी, पीआईबी, एनजीओ, शेयरधारकों, छात्रों और आंगनवाड़ी कर्मियों के प्रतिनिधियों ने भी भाग लिया ।