इस स्कीम में लगाएं पैसा, छोटी सी बचत से हो जाएंगे मालामाल

Daily news network Posted: 2018-04-12 12:57:08 IST Updated: 2018-06-26 15:19:03 IST
इस स्कीम में लगाएं पैसा, छोटी सी बचत से हो जाएंगे मालामाल
  • बहुत से नौकरीपेशा वाले लोग ऐसे होते हैं, जिनकी मासिक आय में से बचत काफी कम हो पाती है।

नई दिल्ली।

बहुत से नौकरीपेशा वाले लोग ऐसे होते हैं, जिनकी मासिक आय में से बचत काफी कम हो पाती है। ऐसे में वे चाहते हैं कि पैसा ऐसी जगह लगाया जाए, जहां कम समय में ज्यादा रिटर्न मिल सके। ऐसे में हम आपको एक ऐसी ही छोटी बचत योजना के बारे में बता रहे हैं, जिसमें आप अपने पैसों पर ज्यादा फायदा पाएंगे। यह योजना पोस्ट ऑफिस की है। ये स्कीम कम सैलरी वालों के साथ ज्यादा इनकम वालों सभी के लिए बेहतर साबित हो सकती है। खास बात है कि इस स्कीम में आप सिर्फ 10 रुपए से भी निवेश शुरू कर सकते हैं। 



 

आरडी है फायदे का सौदा

फिलहाल ज्यादातर बैंक सेविंग अकाउंट पर 3.5 से 4 फीसदी तक ही ब्याज देते हैं, जो महंगाई दर के मुकाबले कम होता है। वहीं, दूसरा रास्ता बैंक एफडी है, जहां ब्याज तो ज्यादा है, लेकिन पैसा लंबे समय के लिए लॉक हो जाता है। ऐसे में अगर आप बैंक के बचत खाते से दोगुना रिर्टन चाहते हैं तो आपको पोस्ट ऑफिस की स्माल सेविंग स्कीम रेकरिंग डिपॉजिट यानी कि आरडी में निवेश करना चाहिए। पोस्ट ऑफिस की 1 साल से 5 साल की आरडी स्कीम पर करीब 7 फीसदी सालाना ब्याज मिल रहा है। 



 

सेविंग अकाउंट में मिलेगा इतना ब्याज

मान लें कि आप हर महीने बचत खाते में और आरडी में 5 हजार रुपए जमा करते हैं। ऐसे में आप भी यह जानना चाहेंगे कि आखिर 1 साल बाद आपको दोनों स्कीम से मिलने वाले रिटर्न में कितना अंतर आएगा। सेविंग अकाउंट में हर माह 5 हजार रुपए जमा करते हैं तो आपको एक साल में 60 हजार और 5 साल में 3 लाख रुपए जमा करने होंगे। वहीं, सालाना 3.5 फीसदी मिलने वाले ब्याज के हिसाब से एक साल में आपका पैसा 5 साल में 333009 रुपए हो जाएगा। यानी आपको सिर्फ  33 हजार रुपए अतिरिक्त मिले।



 

आरडी करवाने पर होंगे फायदे में

वहीं अगर आरडी में हर महीने 5 हजार रुपए तक जमा करते हैं तो साल में 60 हजार रुपए और 5 साल में 3 लाख रुपए जमा करने होंगे। वहीं, आपको पोस्ट ऑफिस आरडी पर सालाना 7 फीसदी ब्याज देता है। जिस लिहाज से आपके पैसे 5 साल में करीब 3.7 लाख रुपए हो जाएंगे। यानी आपको 70 हजार रुपए अतिरिक्त मिले। अगर कंपाउंडिंग इंटरवल क्वार्टली है तो भी आपको 5 साल में 61 हजार रुपए अतिरिक्त मिलेंगे।



 

परेशानी से मिलेगी राहत

रेकरिंग डिपॉजिट निवेशक की सेविंग पर निर्भर करता है और हर महीने एक तय राशि का निवेश इसमें कर सकते हैं। आरडी के लॉक इन फीचर के तहत शुरुआत से आखिर तक ब्याज दर एक समान रहती है और डिपॉजिट पर इंटरेस्ट रेट शुरुआत में ही लॉक इन हो जाता है। यानी ब्याज दर कम होने पर आरडी में फायदा होता है। रेकरिंग डिपॉजिट से सेविंग मैनेजमेंट आसान होता है और बार बार फिक्स डिपॉजिट की परेशानी से राहत मिल जाती है। 



 

ऑनलाइन भी खोल सकते हैं आरडी

आरडी में अकाउंट खोलते समय ही टाइम पररियड तय हो जाता है। टाइम पीरियड खत्म होने पर आपको ब्याज समेत पूरा भुगतान मिल जाता है। आरडी की खासियत है कि इसमें नियमित निवेश के साथ फिक्स डिपॉजिट के फायदे मिलते हैं। ब्याज तय होने से आय की निश्चितता रहती है और बैंकों की ओर से ऑफर मिलने से सहूलियत रहती है। आरडी में एक खास लक्ष्य के लिए रकम इक_ा की जा सकती है। आरडी 10 साल तक हो सकती है। इसमें लंबे समय का इनवेस्टमेंट प्लान बनाया जा सकता है। आरडी अकाउंट पोस्ट ऑफिस, बैंक जाकर या ऑनलाइन भी खोला जा सकता है।