आज टकराएगा 'वायु' तूफान! 24 घंटे अलर्ट रहने का फरमान जारी

Daily news network Posted: 2019-06-12 09:47:40 IST Updated: 2019-06-12 09:47:40 IST
आज टकराएगा 'वायु' तूफान! 24 घंटे अलर्ट रहने का फरमान जारी
  • उत्तरपूर्वी राज्यों में मूसलाधार बारिश के बाद अब पश्चिमी भारत पर वायु तूफान का खतरा मंडरा गया है।

भारत में मानसून के आगमन के साथ ही एक ओर जहां उत्तरपूर्वी राज्यों, मेघालय, असम, त्रिपुरा आदि में मूसलाधार बारिश हो रही हैं वहीं, दूसरी ओर पश्चिमी भारत पर वायु तूफान का खतरा मंडरा गया है। अरब सागर में पैदा हुआ चक्रवाती तूफान ‘वायु’ महाराष्ट्र से उत्तर में गुजरात की तरफ बढ़ रहा है। खबर है कि 13 जून यह तूफान गुजरात के तटीय इलाकों में पहुंचेगा। इसको लेकर गृह मंत्री अमित शाह ने बैठक कर सभी तैयारियों का जायजा लिया है। उन्होंने वरिष्ठ अधिकारियों को लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने और सभी जरूरी सामग्रियों के रखरखाव जैसे बिजली, टेलीकम्युनिकेशन, स्वास्थ्य, पीने का पानी समेत अन्य चीजों को सुनिश्चित करने के लिए कहा है। इसके साथ ही तूफान से क्षति होने की स्थिति में इन चीजों को जल्द से जल्द बहाल करने के आदेश दिए।

 

110 से 130 किमी प्रति घंटा की गति

IMD के अनुसार ‘वायु’ तूफान उत्तर की ओर बढ़ रहा है तथा 13 जून को सुबह गुजरात के तटीय इलाकों में पोरबंदर से महुवा, वेरावल और दीव क्षेत्र में दस्तक देगा। इस तूफान की गति 110 से 130 किमी प्रति घंटा तक हो सकती है। उत्तरी महाराष्ट्र के तटों पर 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। 

 

स्कूल-कॉलेजों की छुट्टी

इस पर गुजरात सरकार ने पूरे राज्य में 13 से 15 जून तक तीन दिवसीय शाला प्रवेशोत्सव कार्यक्रम रद्द कर दिया है। वहीं, 10 जिलों में 13 और 14 जून को स्कूल और कॉलेजों में 2 दिन की छुट्टी की घोषणा कर दी है। इसके साथ ही राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) के जवानों को तैनात कर दिया गया है। इसके अलावा मछुआरों को समुद्र से दूर रहने की चेतावनी जारी की गई है।

 

24 घंटे अलर्ट

खबर है कि सरकार की ओर से नियंत्रण कक्षों के 24 घंटे अलर्ट रहने के भी निर्देश दिए।इसके लिए एनडीआरएफ ने नौकाओं, ट्री-कटर्स, टेलिकॉम सामग्रियों के साथ अपनी 26 टीमों को तैनात किया है। इसके अलावा 10 अन्य टीमों को भी तैयार किया जा रहा है। वहीं, भारतीय तट रक्षक, नौसेना, थलसेना और वायुसेना भी अलर्ट पर है तथा निरीक्षक विमान और हेलिकॉप्टर लगातार हवाई सर्वेक्षण कर रहे हैं।