नॉर्थईस्ट की गल्र्स से छेडख़ानी के केस में दो गिर तार,वायरल हुआ था ये वीडियो

Daily news network Posted: 2017-11-27 20:13:45 IST Updated: 2017-11-27 20:13:45 IST
नॉर्थईस्ट की गल्र्स से छेडख़ानी के केस में दो गिर तार,वायरल हुआ था ये वीडियो
  • इंडियन सुपर लीग(आईएसएल) मैच के दौरान पूर्वोत्तर की लड़कियों से छेडख़ानी के मामले में दो लोगों को गिर तार किया गया है। दोनों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

असम

गुवाहाटी। इंडियन सुपर लीग(आईएसएल) मैच के दौरान पूर्वोत्तर की लड़कियों से छेडख़ानी के मामले में दो लोगों को गिर तार किया गया है। दोनों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। दोनों आरोपियों की पहचान विजय उर्फ तमिल सेल्वन और कार्तिक कुमार के रूप में हुई है। तमिलनाडु पुलिस ने दोनों को गिर तार किया। तमिल सेल्वन बिजनेस करता है जबकि कार्तिक कुमार इंजीनियरिंग का छात्र है। 





दोनों फिलहाल न्यायिक अभिरक्षा में हैं। अगर यह साबित हुआ कि दोनों ने नस्लीय टिप्पणियां की थी, तो उन्हें पांच साल तक की सजा हो सकती है। चेन्नई के जवाहर लाल नेहरु इंडोर स्टेडियम में इंडियन सुपर लीग 2017-18 के एक मैच के दौरान पूर्वोत्तर लड़कियों से छेडख़ानी की गई है। यह मैच नॉर्थईस्ट यूनाइटेड एफसी और चेन्नईयीन एफसी के बीच खेला जा रहा था। 





घटना का एक वीडियो भी सामने आया था जो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। वीडियो में कुछ स्थानीय लोग पूर्वोत्तर की लड़कियों के साथ छेडख़ानी करते हुए दिखाई दे रहे थे। घटना के वक्त स्टेडियम में मौजूद सेवियो दियामारी ने बताया किआईएसएल 2017-18 में चेन्नईयीन एफसी व नॉर्थ ईस्ट यूनाइटेड एफसी के बीच मैच के दौरान हम अपनी टीम को सपोर्ट करने गए थे।






 मैं सहमत हूं कि ट्रॉलिंग व विपक्षी टीम के समर्थकों का मजाक बनाने में कुछ भी गलत नहीं है लेकिन लड़कियों को एब्यूज करना लिमिट से ज्यादा है। पिछले साल भी जवाहर लाल नेहरु स्टेडियम में उनके दो दोस्तों को पीटा गया था लेकिन उन्होंने इसे पब्लिक डोमेन में नहीं लाया लेकिन इस बार वे इरादतन स्टैंड पर आए जहां बड़ी सं या में नॉर्थ ईस्ट यूनाइटेड एफसी के फैंस गेम देख रहे थे।






 वे हमारी सीटों के समक्ष खड़े हो गए और हमें मैच देखने से रोक दिया। वे चाहते थे कि हम रिएक्ट करें ताकि वे हमें पीट सकें। यही नहीं अन्य लोग जो वहां खड़े थे वे हमारा मजाक उड़ाने के मजे ले रहे थे। लड़की ने खुद उपद्रवियों को पीछे धकेला। सागर अरोनईसा नाम के एक छात्र ने फेसबुक पर वीडियो पोस्ट किया था। 






उसने अपनी पोस्ट में लिखा था, घटना के वक्त मदद की गुहार करना या कुछ भी कार्रवाई करना संभव नहीं था क्योंकि वहां कोई पुलिस कर्मी नहीं था। यही बेहतर था कि वे उनके उकसाने पर कोई जवाब ना दें और स्थिति को हैंडल करें। घटना के सामने आने के बाद मणिपुर के मु यमंत्री एन.बीरेन सिंह ने मांग की थी कि  फुटबॉल क्लब चेन्नईयीन एफसी, जिसके फैंस नॉर्थ ईस्ट यूनाइटेड की महिला समर्थकों की तरफ अश्लील इशारे करते हुए पाए गए थे,को आईएसएस लीग से ड्रॉप करना चाहिए। 







बीरेन सिंह ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट लिखी थी।  इसमें उन्होंने कहा था, यह बेहूदगी है। सही शिक्षा की जरूरत है। उन्हें पहली क्लास से भूगोल और भारत का इतिहास सीखने दीजिए। उन्हें सीखने दीजिए कि भारत में कितने राज्य और समुदाय हैं। कोई अनुशासन नहीं। इस तरह के बर्ताव से अन्य देशों के सामने हमार सिर शर्म से झुक जाता है। उन्हें दंडित किया जाना चाहिए। संबंधित लोगों को शिकायती व निंदा पत्र लिख रहा हूं। मैं एआईएपएफ को लिख रहा हूं कि आई लीग को चेन्नई से अन्य जगह शि ट किया जाए या फिर चेन्नईयीन एफ.सी.को आई लीग से ड्रॉप किया जाए।