मौसम अलर्टः 20 राज्यों में तेज बारिश की संभावना, मच सकती है भारी तबाही

Daily news network Posted: 2018-07-03 16:23:14 IST Updated: 2018-07-03 16:23:14 IST
मौसम अलर्टः 20 राज्यों में तेज बारिश की संभावना, मच सकती है भारी तबाही
  • पूरे देश में मानसून सक्रिय है। इस बार मानसून अपने तय वक्त से 8 दिन पहले ही पहुंच चुका है। इससे जहां भयंकर गर्मी की मार झेल रहे लोगों को कुछ राहत मिली है वहीं मानसून की ये बारिश कुछ राज्याें के लिए आफत बन गर्इ है।

नर्इ दिल्ली।

पूरे देश में मानसून सक्रिय है। इस बार मानसून अपने तय वक्त से 8 दिन पहले ही पहुंच चुका है। इससे जहां भयंकर गर्मी की मार झेल रहे लोगों को कुछ राहत मिली है वहीं मानसून की ये बारिश कुछ राज्याें के लिए आफत बन गर्इ है। मुंबई में पिछले 12 घंटे से लगातार बारिश हो रही है। इस कारण ठाणे, वाशी, कोलाबा, माटुंगा, कुर्ला, सायन, हिंदमाता, सांताक्रूज, माहिम, बांद्रा, दादर और अंधेरी समेत करीब 10 से ज्यादा इलाकों में पानी भर जाने से ट्रैफिक पर असर पड़ा।

 

 

 


उधर, अंधेरी स्टेशन के पास सुबह 7:30 बजे गोखले रोड ओवरब्रिज का स्लैब गिर गया। इसमें पांच लोग जख्मी हो गए।एक शख्स को मलबे से निकाला गया। तो वहीं तीन दिनों से जम्मू आैर कश्मीर में रूक रूक कर बारिया हा रही है जिससे वहां के कर्इ इलाकों में बाढ़ के हालात है। कश्मीर में अमरनाथ यात्रा पर रोक लगा दी गर्इ है।

 

 

 

 

 पूर्वोत्तर के इन राज्यों में हो सकती हे भारी बारिश

 

 इस बीच, मौसम विभाग ने मंगलवार को 20 राज्यों में तेज बारिश का अनुमान जताया है। मौसम विभाग के मुताबिक, मुंबई और ठाणे में मंगलवार और बुधवार को भारी बारिश हो सकती है। मौसम विज्ञान विभाग की ओर से मंगलवार सुबह जारी वॉर्निंग के मुताबिक, आज असम, मेघालय, पूर्वी और पश्चिमी उत्तर प्रदेश, बंगाल, सिक्किम, बिहार, जम्मू-कश्मीर, हिमाचल, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, झारखंड, अरुणाचल प्रदेश, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, गोवा, तटीय कर्नाटक और तमिलनाडु में तेज बारिश हो सकती है।

 

 

 


 मौसम विभाग ने बुधवार से शुक्रवार के बीच 7 राज्यों में भारी बारिश और 18 राज्यों में अच्छी बारिश का अनुमान जताया है। इन राज्यों में मध्यप्रदेश और राजस्थान शामिल नहीं हैं। मौसम विभाग के मुताबिक, 1 जून से 2 जुलाई के बीच देशभर में 167.4 मिलीमीटर बारिश हुई, जो सामान्य से 7 फीसदी कम है। अगर मानसून सामान्य रहता तो देश में एक महीने के भीतर 180.7 मिलीमीटर बारिश दर्ज की जाती।

 

 


 

 असम में बाढ़ से परेशान जनजीवन

 

 बता दें कि असम में बाढ़ के कारण 23 लोगों को अपनी जिंदगी से हाथ धोना पड़ा तो सैंकडों लोग घर से बेघर हो गए। इस बाढ़ के कारण करीब साढ़े चार लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए। एक अधिकारिक  बयान में बताया या कि असम में बाढ़ के हालात में काफी सुधार हुआ है। चार में से तीन सर्किल पानी से बाहर हैं। तीन लाख में से केवल 60,000 लोग अभी भी प्रभावित हैं। लोग अपने घर वापस लौट रहे हैं इसलिए अब 145 में से केवल 31 राहत शिविरों में ही लोग हैं। हालांकि हैलाकांडी के अल्‍गापुर जिले के हालात में सुधार नहीं है।तो वहीं फिर से मौसम विभाग ने भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।