किसान के बेटे को देश के सर्वश्रेष्ठ धावक बनाएगा ये आईएएस अधिकारी

Daily news network Posted: 2019-02-20 13:51:18 IST Updated: 2019-02-21 08:24:09 IST
किसान के बेटे को देश के सर्वश्रेष्ठ धावक बनाएगा ये आईएएस अधिकारी
  • कुछ चीजें हैं जो पूर्वोत्तर से इनकार नहीं कर सकती हैं। इनमे देश की कुछ बेहतरीन खेल प्रतिभाओं का उत्पादन करने की क्षमता है। देश में सर्वश्रेष्ठ फुटबाल, हॉकी, कुश्ती, ट्रैक, फील्ड और मुक्केबाजी की कुछ प्रतिभाएं पर्याप्त संसाधनों

शिलांग ।

कुछ चीजें हैं जो पूर्वोत्तर से इनकार नहीं कर सकती हैं। इनमे देश की कुछ बेहतरीन खेल प्रतिभाओं का उत्पादन करने  की क्षमता है। देश में सर्वश्रेष्ठ फुटबाल, हॉकी, कुश्ती, ट्रैक, फील्ड और मुक्केबाजी की कुछ प्रतिभाएं पर्याप्त संसाधनों और बुनियादी सुविधाओं के अभाव के बावजूद इन राज्यों से आती है । 



इस क्षेत्र के संभावित विश्व स्तरीय एथलीटों की अगली पंक्ति में 22 वर्षीय बत्सरंग एगितोक संगमा हैं जो मेघालय के वेस्ट गारो हिल्स जिले में तेब्रॉग्रे गांव से लंबी दूरी के धावक हैं। बत्सरंग विनम्र साधनों परिवार से आता है । उनके पिता चाय और सुपारी उगाने वाले छोटे किसान हैं । एक गांव के स्कूल से हाई स्कूल की पढाई पूरी करते हुए, वह वर्तमान में वेस्टगारो हिल्स के एक  छोटे से शहर तुरा में डरमा कॉलेज में पढ़ रहे हैं । 



उन्होंने सबसे पहले अगस्त 2015 में तुरा रनर क्लब द्वारा आयोजित स्थानीय स्वतंत्रता रन में भाग लेना शुरू किया । एक विशेष बातचीत में बत्यांग कहते हैं जब में पहली बार वहां जीता, तो उन्होंने मुझे अभ्यास करने के लिए प्रोत्साहित किया और आज भी वे मेरी मदद ओर प्रोत्साहन जारी रखे हुए हैं । 


बत्सरंग भारत में आयोजित होने वाले प्रमुख मैराथन में भाग लेने की इच्छा रखता है लेकिन आर्थिक संकट का सामना कर रहा है और यात्रा का बोझ नहीं उठा सकता है । उसने बताया कि मैं एक पेशेवर धावक बनने की योजना बना रहा हूं हाफ मैराथन और संभवत: पूर्ण मैराथन दोनों में भारत का प्रतिनिधित्व कर रहा हूं । अब मैं नहीं कह सकता कि यह कब होगा लेकिन में अपनी पूरी कोशिश कर रहा हूं और इसके लिए काम कर रहा हूं । उसकी प्रतिभा को देखते हुए गणतंत्र दिवस पर जिला प्रशासन द्वारा उसे सम्मानित भी किया गया था । सरकारी अधिकारियों का समर्थन उसके लिए वास्तविक मनोबल बढाने वाला बनकर सामने आया है ।