कानपुर में पकड़ा गया हिजबुल का आतंकी, गणेश चतुर्थी पर वारदात की थी साजिश

Daily news network Posted: 2018-09-14 11:41:51 IST Updated: 2018-09-14 11:41:51 IST
कानपुर में पकड़ा गया हिजबुल का आतंकी, गणेश चतुर्थी पर वारदात की थी साजिश
  • यूपी एटीएस ने गुरूवार को कानपुर से हिज्बुल मुजाहिदीन के एक संदिग्ध आतंकवादी कमर-उज-अमन उर्फ डॉ हुरैरा को गिरफ्तार किया है।

गुवाहाटी।

यूपी एटीएस ने गुरूवार को कानपुर से हिज्बुल मुजाहिदीन के एक संदिग्ध आतंकवादी कमर-उज-अमन उर्फ डॉ हुरैरा को गिरफ्तार किया है। कमर-उज-अमन असम  के जमुनामुख के सराक पिली गांव का रहने वाला है। अप्रैल में उसने एके-47 लिए हुए अपनी एक फोटो सोशल मीडिया पर डाली थी, जिसमें उसने अपना नाम डॉ हुरैरा लिखा था। तभी से सुरक्षा एजेंसियां उसकी तलाश कर रही थीं।

 

आतंकी मिशन के लिए आया था कानपुर

 डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि यूपी एटीएस ने एनआईए की मदद से आज उसे कानपुर के शिवनगर से गिरफ्तार कर लिया। डीजीपी ओपी सिंह का कहा कि पूछताछ के दौरान पता चला है कि वह गणेश चतुर्थी के मौके पर कोई वारदात करना चाहता था। उसके फोन से कानपुर के एक मंदिर की रेकी करने का वीडियो भी मिला है। उसने पूछताछ में हिज्बुल मुजाहिदीन का सदस्य होना स्वीकार किया है और यह भी स्वीकारा है कि उसे कानपुर आतंकी मिशन पर भेजा गया था।

 

 

यूपी डीजीपी ने कहा कि इस ऑपरेशन को अंजाम एडिशनल एसपी ने दिया है। एटीएस

की टीम के लिए अलग से इनाम निर्धारित है। टीम को उससे नवाजा जाएगा। पिछले

कुछ महीनों से एटीएस कई वारदात करने वालों की कोशिशों को नाकाम कर रहा है।

 

सरकार को उसे गोली मार देनी चाहिए

बता दें कि सोशल मीडिया पर एक-47 के साथ उसकी तस्वीर आने के बाद उसकी मां

ने कहा था कि सरकार को उसे गोली मार देनी चाहिए। उसकी बहन ने कहा था कि अगर

वह मर जाए तो उसकी लाश उनके घर न भेजी जाए क्योंकि किसी आतंकी से उनका कोई

रिश्ता नहीं हो सकता।

 

2017 में ली अतांकी बनने की ट्रेनिंग

 गौरतलब है कि कमर-उज-अमन बीए के तीसरे साल के इम्तिहान में बैठा लेकिन पास नहीं हो सका। उसने कम्प्यूटर कोर्स और टाइपिंग का डिप्लोमा किया है। 2008 से 2012 के बीच वह विदेश में भी रह चुका है। वह 2017 में कश्मीर में ओसामा नाम के एक शख्स से मिला था, जिसके जरिए वह हिज्बुल मुजाहिदीन में शामिल हुआ। उसने हिज्बुल मुजहिदीन की ट्रेनिंग किश्तवाड़ से ऊपर पहाड़ के जंगलों में ली। 2013 में असम में उसकी शादी हुई थी। उसका एक बेटा भी है।

 

इससे पहले भी पकड़े जा चुके हैं आतंकवादी

 मई 2017 को सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) ने उत्तर प्रदेश के महराजगंज में नेपाल से सटे सोनौली क्षेत्र में हिज्बुल मुजाहिदीन के एक संदिग्ध आतंकवादी नसीर अहमद उर्फ सादिक को गिरफ्तार किया था।

8 मार्च 2017 को यूपी पुलिस के एंटी टेरर स्क्वॉड ने बेहद पेशेवराना तरीके से संदिग्ध आतंकवादी सैफुल्लाह को लखनऊ में ढेर कर दिया। बताया गया कि वो इस्लामिक स्टेट के खुरासान मॉड्यूल का सदस्य था।