असम के ट्रक ड्राइवर हैं सबसे ज्यादा HIV संक्रमित

Daily news network Posted: 2018-04-12 18:53:14 IST Updated: 2018-04-12 20:01:15 IST
असम के ट्रक ड्राइवर हैं सबसे ज्यादा HIV संक्रमित
  • असम से एक चौंकाने वाली घटना सामने आर्इ है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की एक रिपोर्ट में यह सामने आया है कि असम के कामरूप में लंम्बी दूरी तय करने वाले ट्रक चालकों में सबसे ज्यादा एचआईवी संक्रमण पाया गया है

गुवाहाटी।

असम से एक चौंकाने वाली खबर सामने आर्इ है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की एक रिपोर्ट में यह सामने आया है कि असम के कामरूप में लंबी दूरी तय करने वाले ट्रक चालकों में सबसे ज्यादा एचआईवी संक्रमण पाया गया है।

 

 


 

 रिपाेर्ट में बताया गया है कि पूरे देश के 28 से ज्यादा साइटों में राष्ट्रीय एड्स कंट्रोल संगठन के द्वारा एचआर्इवी सेंटीनल 2016-17 सर्वें करवाया गया। जिसमें नौ साइटों के लोगों में एक फीसदी से ज्यादा एचआर्इवी संक्रमण पाया गया है जबकि असम के कामरूप में लंबी दूरी तय करने वाले ट्रक चालकों में संक्रमण का ग्राफ 2.8 फीसदी है। पूर्वोत्तर के राज्यों में असम के कामरूप के बाद नागालैंड का दिमापुर भी है जहां 1.21 फीसदी एचआर्इवी का संक्रमण रजिस्टर किया गया है।

 

 


ट्रक चालकों में संक्रमण का अनुमान लगाने के लिए ब्रिज वाले के क्षेत्रों में सर्वे आयोजित करवाया। ब्रिज की आबादी वाले लोगों को इस सर्वे में शामिल किया गया। जिन पर हमेशा एचआर्इवी संक्रमण का खतरा बना रहता है। उनकी सामुहिक गतिशीलता आैर उत्तेजना इस खतरे को बढ़ाती रहती है।

 

 


एचआर्इवी संक्रमण के मामले में मणिपुर-नागालैंड सबसे आगे


इनके अलावा 26 राज्यों में 84 जिलों में आैर 89 साइटों में इस सर्वे को आयोजित करवाया गया। जिनमें मणिपुर अौर नागालैंड एेसे राज्य हैं, जो देश में एचआर्इवी संक्रमण के मामले में सबसे आगे हैं। बता दें कि उन पुरूषों  में एचआर्इवी का संक्रमण ज्यादा देखा गया है जो पुरूषों के साथ संबंध बनाते हैं। एेसे लोगों में एचअार्इवी संक्रमण का खतरा 8.4 और 7.7 फीसदी होता है।

 

 

 

 

सेक्स व्यवसाय के कारण बढ़ रहा इन राज्यों में एचआर्इवी का खतरा

 

 रिपोर्ट के मुताबिक मणिपुर, मिजोरम आैर नागालैंड में एचआर्इवी संक्रमण का स्तर काफी ज्यादा है। इन राज्यों में सेक्स को व्यवसाय के रूप में किया जाता है ये एक बड़ी वजह है एचआर्इवी संक्रमण के बढ़ते खतरे की। इसके अलावा एक ही इंजेक्शन का इस्तेमाल एक से ज्यादा लोगों पर करने के कारण भी ये संक्रमण फैलता है।

 

 


मिजोरम में सबसे ज्यादा है महिला सेक्स वर्कर

 

 बता दें कि देशभर में मिजारेम को छोड़कर ज्यादातर राज्यों में महिला सेक्स वर्कर्स की संख्या पांच फीसदी से भी कम है जबकि मिजोरम में ये संख्या 24.7 फीसदी है आैर मेघालय में 5.9 फीसदी है। तो पूर्वोत्तर के इन राज्यों में एचआर्इवी संक्रमण फैलने का एक बड़ा कारण सेक्स व्यवसाय है। जबकि दूसरा बड़ा कारण एक ही इंजेक्शन के इस्तेमाल नशीली दवाआें के सेवन के कारण राज्य में 19.8 फीसदी एचआर्इवी का खतरा बढ़ रहा है।