उड़नपरी Hima Das बनीं UNICEF की पहली यूथ एंबेसडर, 19 दिनों में 5 गोल्ड जीतने का किया है कारनामा

Daily news network Posted: 2019-07-30 13:00:45 IST Updated: 2019-07-31 18:42:18 IST
  • भारतीय एथलीट व धींग एक्सप्रेस के नाम से मशहूर हिमा दास को संयुक्त राष्ट्र कोष(यूनीसेफ) भारत का पहला युवा एम्बेसेडर बनाया गया है। यूनीसेफ ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर इसकी जानकारी दी है।

नई दिल्ली/गुवाहाटी।

भारतीय एथलीट व धींग एक्सप्रेस के नाम से मशहूर हिमा दास को संयुक्त राष्ट्र कोष(यूनीसेफ) भारत का पहला युवा एंबेसडर बनाया गया है। यूनीसेफ ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर इसकी जानकारी दी है। यूनीसेफ ने लिखा, 'मिलिए हमारी युवा एंबेसडर हिमा दास से, एशियाई खेलों की स्वर्ण पदक विजेता। विश्व बाल दिवस समारोह के अवसर पर भारत में हमारी पहली युवा एंबेसडर।'


 एंबेसडर बनाए जाने पर हिमा दास ने कहा वह इस भूमिका के लिए चुने जाने पर सम्मानित महसूस कर रही है। उन्होंने कहा, 'मैं यूनीसेफ की यूथ एंबेसडर चुने जाने पर बहुत सम्मानित महसूस कर रही हूं। मुझे उम्मीद है कि मैं बच्चों को उनके सपनों को पूरा करने के लिए प्रेरित कर पाऊंगी।'



19 दिन में जीता 5 गोल्ड मेडल

 हिमा दास ने हाल ही में 19 दिनों के भीतर 5 अंतर्राष्ट्रीय गोल्ड मेडल जीता है। हिमा ने पहला गोल्ड 2 जुलाई 2019 को पोलैंड में आयोजित हुई पॉजनान एथेलेटिक्स ग्रैंड प्रिक्स में 200 मीटर रेस को 23.65 सेकंड में पूरा करते हुए गोल्ड मेडल जीता। इसके बाद 8 जुलाई को पोलैंड में ही आयोजित कुट्नो एथेलेटिक्स मीट में 200 मीटर रेस को 23.97 सेकंड में पूरी करते हुए दूसरा गोल्ड मेडल जीता। हिमा ने तीसरा गोल्ड 13 जुलाई को चेक गणराज्य में आयोजित क्लांदनो एथेलेटिक्स मीट में 200 मीटर रेस को 23.43 सेकंड में पूरा करके जीता। इसके बाद 17 जुलाई को टाबोर एथेलेटिक्स मीटर में 200 मीटर रेस में भी उन्होंने चौथा गोल्ड मेडल जीता। इसके बाद हिमा ने नॉवे मेस्टो सीजेच रिपब्लिक में 400 मीटर रेस में पांचवा गोल्ड मेडल अपने नाम किया। ऐसा करने वाली वो पहली भारतीय महिला हैं।


 बाढ़ पीड़ितों को दी आधी सैलरी

 ढिंग एक्सप्रेस के नाम से मशहूर हिमा दास ने असम में बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए अपने वेतन का आधा हिस्सा मुख्यमंत्री राहत कोष में दान कर दिया है। इसके साथ ही उन्होंने बड़े-बड़े उद्योगपत्तियों और बिजनेसमैन से असम के लोगों को मदद करने का आह्वान किया है। आपको बता दें कि हिमा दास गुवाहाटी स्थिति (ioc) इंडियन ऑयल काॅर्पोरेशन में एचआर के पद पर कार्यरत हैं।


 एडिडास की ब्रांड एंबेसडर

 सितंबर 2018 में हिमा दास ने स्पोर्ट्स दिग्गज एडिडास के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। कंपनी ने एक बयान में कहा कि हिमा दास को अब रेसिंग और प्रशिक्षण जरूरतों के लिए एडिडास की तरफ से सर्वश्रेष्ठ सेवाएं दी जा रही है।

 


 हिमा के पिछले रिकॉर्ड

 पिछले साल जुलाई में ही उन्होंने फिनलैंड के टाम्परे में आयोजित विश्व अंडर -20 चैंपियनशिप 2018 में 400 मीटर स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता था। उन्होंने 51.46 सेकेंड का समय निकालकर स्वर्ण पदक जीता था और अंतर्राष्ट्रीय ट्रैक स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय धावक बनी थीं। हेमा ने 2018 में एशियाई खेलों में 4×400 मीटर मिश्रित रिले में रजत पदक भी जीता जो स्वर्ण पदक विजेताओं पर प्रतिबंध के कारण गोल्ड में अपग्रेड हो गया है। हेमा ने मिक्स्ड 4×400 मीटर स्पर्धाओं में 2018 जकार्ता एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक भी जीता था।