असम में बढ़ सकता है कॉमर्शियल वाहनों का किराया, मेघालय में रिपेयरिंग पर लगा बैन

Daily news network Posted: 2018-04-13 17:12:35 IST Updated: 2018-04-13 17:27:00 IST
असम में बढ़ सकता है कॉमर्शियल वाहनों का किराया, मेघालय में रिपेयरिंग पर लगा बैन
  • दक्षिण असम के बराक घाटी मेंं कर्मशियल वाहनों के किराए में बढ़ गए हैं। इस बात के संकेत बुधवार को बराक घाटी के परिवहन मालिकों की समन्वय समिति ने दिए।

गुवाहाटी/शिलांग

दक्षिण असम की बराक घाटी मेंं कॉमर्शियल वाहनों के किराए में बढ़ोत्तरी हो सकती है। इस बात के संकेत बुधवार को बराक घाटी के परिवहन मालिकों की समन्वय समिति ने दिए। समिति के सचिव किशोर भट्टाचार्य ने कहा कि ये एेसा समय है, जब ल्यूब्रिकेंट्स स्पेयर पार्ट्स समेत संबंद्ध प्रोडक्टस की कीमतें बढ़ रही हैं। उन्होंने कहा कि कॉमर्शियल वाहनों का किराया बढ़ाने के अलावा हमारे पास कोर्इ विकल्प नहीं है। उन्होंने सरकार के सामने मांगों के समाधान के लिए 30 अप्रैल तक की समय सीमा रखी है। 

 


 इस बीच ट्रक आॅनर एसोसिएशन के महासचिव अब्दुल अहद ने परिवहन सहायता आयुक्त कार्यालय दोबारा खोलने की मांग की है, जो 2013 में खोला गया था, लेकिन फिर बराक घाटी से आॅफिस का स्थानांतरित कर दिया गया।

 

 

 

 एक आेर जहां असम में एक कॉमर्शियल वाहनों का किराया बढ़ाया जाएगा, तो वहीं मेघालय की राजधानी शिलांग में वाहनों की मरम्मत पर रोक लगा दी गर्इ है। जिले की पुलिस ने वाहनों की मरम्मत, सड़कों पर सामानों की फिटिंग के साथ वाहन के मालिकों को संशोधित साइलेंसर आैर एलर्इडी लाइटस को हटाने का निर्देश दिया। पूर्वी खासी हिल्स के एसपी डेविस आर मराक ने ये निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि वाहनों के साइलेंसर आैर वाहन की एलर्इडी लाइट सड़कों पर परेशानी का सबब बन रही है।

 

 

 

 बता दें कि राज्य में धारा 101 मेघालय पुलिस अधिनियम के तहत इस नियम को लागू किया गया है। साथ ही यह भी कहा गया है कि जो भी इस आदेश का पालना नहीं करेगा, उसे सेक्शन 102 के तहत गिरफ्तार किया जा सकता है। वहीं 5,000 रुपए का जुर्माना भी लगाया जा सकता है। गौरतलब  है कि मेघालय की यातायात पुलिस ने इस नियम के उल्लंघन के लिए मार्च में 6.65 लाख, तो वहीं फरवरी में  5.17 लाख रुपये का जुर्माना लगाया था।