एक पेड़ में नजर आई आकृति, हनुमान की मूर्ति समझ पूजने लगे लोग

Daily news network Posted: 2018-04-11 14:31:28 IST Updated: 2018-06-26 14:47:33 IST
एक पेड़ में नजर आई आकृति, हनुमान की मूर्ति समझ पूजने लगे लोग
  • भारतीय समाज किस तरह अंधविश्वास की बेडिय़ों में जकड़ा हुआ है इसका उदाहरण हाल ही में असम में नजर आया।

मोरान।

भारतीय समाज किस तरह अंधविश्वास की बेडिय़ों में जकड़ा हुआ है इसका उदाहरण हाल ही में असम में नजर आया। मोरान के मदारगुरी इलाके में स्थित एक घर में उस वक्त सैंकड़ों की सं या में लोग जमा हो गए जब उन्हें घर में लगे पेड़ में एक आकृति नजर आई,जिसे उन्होंने भगवान हनुमान की मूर्ति समझ लिया। 

 

 

 


मदारगुरी इलाके में हेमंता बोरा का घर है। उनके घर में एक पेड़ लगा हुआ है,6 अप्रेल को एक महिला को पेड़ पर एक आकृति नजर आई। वह उसे भगवान हनुमान की मूर्ति समझकर पूजा करने लगी। जब आस पास के लोगों को इस बारे में पता चला तो वे भी बोरा के घर मूर्ति के दर्शन व पूजा पाठ के लिए एकत्रित हो गए। इसके बाद तो यह खबर इलाके में आग की तरह फैल गई। पूजा करने व आशीर्वाद लेने के लिए सैंकड़ों की सं या में लोग बोर के घर जमा हो गए। 

 

 

 

एक महिला ने कहा, मुझे एक ग्रामीण ने इस मूर्ति के बारे में बताया था, जब मैंने उसे देखा तो मेरी खुशी का ठिकाना नहीं था। मैं बहुत उत्साहित थी। ऐसा लगा जैसे हनुमान जी का अवतार हुआ हो। बामुनबारी,बामुनबारी, रंगसाली, खोवांग, डिब्रूगढ़ जैसे विभिन्न इलाकों से लोग पूजा पाठ के लिए आने लगे। मैं अपने पति को साथ लेकर आई ताकि ईश्वर का आशीर्वाद ले सकें। लोगों ने इस पेड़ का नाम ही हनुमान रख दिया है और इसे संरक्षित करने की मांग की है।

 

 

जो लोग मूर्ति के दर्शन के लिए आ रहे हैं उनमें से कुछ का दावा है कि समाज की बुरी ताकतों पर नजर रखने के लिए भगवान की मूर्ति अचानक प्रकट हुई है। आपको बता दें कि इसी इलाके में कुछ दिन पहले बदमाशों के समूह ने एक नाबालिग की बलात्कार के बाद हत्या कर दी थी।