BJP नेता का दावा, गोगोर्इ सरकार ने लिया था हिंदू-बांग्लादेशियों को भारत लाने का फैसला

Daily news network Posted: 2018-05-12 12:30:38 IST Updated: 2018-05-12 12:30:38 IST
BJP नेता का दावा, गोगोर्इ सरकार ने लिया था हिंदू-बांग्लादेशियों को भारत लाने का फैसला
  • असम में एक आेर जहां नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर विरोध आैर प्रदर्शन जोरो से चल रहा है ताे वहीं असम के प्रवक्ता आैर भाजपा के वरिष्ठ नेता चंद्रमोहन पटवारी ने शुक्रवार को एक प्रेस कांफ्रेंस में दावा किया है

गुवाहाटी।

असम में एक आेर जहां नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर विरोध आैर प्रदर्शन जोरो से चल रहा है ताे वहीं असम के प्रवक्ता आैर भाजपा के वरिष्ठ नेता चंद्रमोहन पटवारी ने शुक्रवार को एक प्रेस कांफ्रेंस में दावा किया है कि तरुण गोगोर्इ के शासनकाल में कांग्रेस सरकार ने बांग्लादेश के हिंदुआें को भारत में शरण आैर नागरिकता देने की पहल की थी।


 

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर कांग्रेस का तीन तरह का नजरिया है। कांग्रेस ब्रह्मपुत्र घाटी में कांग्रेस इसका विरोध कर रही है आैर बराक घाटी में समर्थन। उन्होंने बताया कि तरुण गोगोर्इ की कैबिनेट ने 16 जुलार्इ 2014 को धार्मिक वजह से बांग्लादेश में प्रताड़ित हिंदुआें को भारत में शरण आैर नागरिकता देने का प्रस्ताव लिया था।

 

 


 गोगोर्इ सरकार ने 28 अप्रैल 2012 को इस आशय का एक प्रस्ताव तत्कालीन प्रधानमंत्री को भेजा था। पटवारी ने कटाक्ष करते हुए कहा कि सोनोवाल सरकार की कैबिनेट ने एेसा कोर्इ प्रस्ताव नहीं लिया है। इसलिए कांग्रेस को अपनी स्थिति स्पष्ट करना चाहिए।

 


 

 इसके साथ ही उन्होंने राज्य के लोगों को आश्वासन दिया है कि मुख्यमंत्री सोनोवाल असम की जनता के हित के विरोध में काेर्इ फैसला नहीं करेंगे। वह एेसा कोर्इ फैसला नहीं करेंगे जिससे राज्य या जनता को नुकसान हो। उन्होंने कहा कि कुछ लोग आैर संगठन जनता को गुमराह करने का प्रयास कर रही है।