नगांव में अब चलती गाड़ी में महिला से बलात्कार की कोशिश

Daily news network Posted: 2018-04-05 18:33:35 IST Updated: 2018-04-05 18:33:35 IST
नगांव में अब चलती गाड़ी में महिला से बलात्कार की कोशिश
  • असम में महिलाओं के खिलाफ अपराध की घटनाएं बढ़ती जा रही है। आए दिन महिलाओं, युवतियों और बच्चियों से बलात्कार व छेडख़ानी की खबरें सामने आ रही है।

असम में महिलाओं के खिलाफ अपराध की घटनाएं बढ़ती जा रही है। आए दिन महिलाओं, युवतियों और बच्चियों से बलात्कार व छेडख़ानी की खबरें सामने आ रही है। ताजा मामला नगांव का है जहां एक लड़की से बलात्कार की कोशिश की गई। जागीररोड की रहने वाली लड़की से कस्बे के बीचों बीच चलते टेम्पो में रेप की कोशिश की गई। यही नहीं लड़की को बुरी तरह पीटा गया। इसके बाद पीडि़ता को नगांव के अमोलापात्ति के पास फेंक दिया। 

 


मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक सुबह करीब 11.30 बजे स्थानीय लोगों ने लड़की को देखा और इताचालि पुलिस चौकी को जानकारी दी। पुलिस पीड़िता को मेडिकल टेस्ट के लिए ले गई। पुलिस ने मामले की जांच शुरु कर दी है। आपको बता दें कि मोइदुल भी जागीररोड के झारगांव का रहने वाला है। वह पिछले कुछ माह से नगांव में टेम्पो ड्राइवर के रूप में काम कर रहा था। 


 

आपको बता दें कि 23 मार्च को नगांव में ही पांचवी क्लास में पढऩे वाली बच्ची की सामूहिक बलात्कार के बाद हत्या कर दी गई थी। इस मामले को लेकर काफी हंगामा हुआ था। विधानसभा में भी यह मामला उठा था। उधर विश्वनाथ में 17 साल के एक किशोर ने नाबालिग लड़की से छेडख़ानी की कोशिश की। घटना बिश्वनाथ के बोरगांग इलाके की है। आरोप है कि 3 अप्रेल को 17 वर्षीय किशोर ने 6 वर्षीय मासूम से छेडख़ानी की कोशिश की। 

 


पीडि़ता के पिता ने बताया कि आरोपी किशोर प्राइवेट ट्यूटर है। वह पिछले 25 दिनों से उनकी बेटी और पड़ोस में रहने वाली एक अन्य लड़की को ट्यूशन पढ़ाने आता था। मंगलवार को उसने मेरी बेटी से छेडख़ानी की कोशिश की। उस वक्त हम लोग घर पर नहीं थे। जब आरोपी ने मेरी बेटी से छेडख़ानी की तो मेरे 11 वर्षीय बेटे ने उसे देख लिया। उसने मुझे फोन पर घटना के बारे में जानकारी दी। इसके बाद मैं घर पहुंचा और पाया कि आरोपी मेरी बेटी को गलत तरीके से छू रहा था। मैंने आरोपी को चांटे मारे और घर से बाहर निकाल दिया। इसके बाद मैंने आरोपी के पिता गोपाल बिश्वास को घटना के बारे में जानकारी दी। मैंने आरोपी को उसके पिता के हवाले कर दिया लेकिन स्थानीय लोग जोर दे रहे थे कि उसे पुलिस के हवाले करना चाहिए। पुलिस ने आरोपी को हिरासत में लेकर मामले की जांच सुरु कर दी है।