जदयू में शामिल हुआ त्रिपुरा का पूर्व मंत्री, छोड़ा लेफ्ट का साथ

Daily news network Posted: 2019-02-12 12:25:43 IST Updated: 2019-02-12 18:27:53 IST

अगरतला।

त्रिपुरा में सीपीआई को उस वक्त तगड़ा झटका लगा जब वरिष्ठ नेता मनिन्द्र रियांग ने पार्टी छोड़ दी। माणिक सरकार के नेतृत्व वाली लेफ्ट फ्रंट सरकार में जेल मंत्री रहे मनिन्द्र रियांग जनता दल यूनाइटेड (जदयू) में शामिल हो गए हैं। उन्हें पार्टी की स्टेट यूनिट का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है।

 

 


 एक बयान में जदयू के महासचिव व पूर्वोत्तर के प्रभारी ए.अहमद खान ने कहा, बिहार के मुख्यमंत्री व जदयू के अध्यक्ष नीतीश कुमार ने रियांग को जदयू के स्टेट प्रेसिडेंट के रूप में नियुक्त किया है। पूर्व पुलिस अधिकारी हर कुमार देबबर्मा को स्टेट यूनिट का उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया है। मनिन्द्र ने 2005 में उस वक्त मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था जब लेफ्ट फ्रंट ने अपनी मिनिस्ट्री के सदस्यों की संख्या 18 से घटाकर 12 कर दी थी। बाद में उनको फिर मंत्रिमंडल में शामिल कर दिया गया।

 

 


 हालांकि उनका सीपीएम के खिलाफ गुस्सा बरकरार रहा। पिछले विधानसभा चुनाव में दक्षिण त्रिपुरा के शांतिबाजार से चुनाव हार गए थे। इसके बाद मनिन्द्र प्रैक्टिकली राजनीति में सक्रिय नहीं रहे। वह अच्छे मौके की तलाश में थे। आपको बता दें कि त्रिपुरा में भाजपा की पहली बार सरकार बनी है। बिप्लब कुमार देब राज्य के मुख्यमंत्री हैं। विधानसभा चुनाव में भाजपा ने लेफ्ट फ्रंट का सूपड़ा साफ कर इतिहास रचा था। भाजपा की आंधी में लेफ्ट का किला ढह गया था।