चामलिंग सरकार को मिलेगी टक्कर, नई पार्टी एसवाइएसएफ का गठन

Daily news network Posted: 2018-04-20 10:19:33 IST Updated: 2018-04-20 10:19:33 IST
चामलिंग सरकार को मिलेगी टक्कर, नई पार्टी एसवाइएसएफ का गठन
  • सिक्किम में नई पार्टी सिक्किम युवा शक्ति फ्रंट (एसवाइएसएफ) का गठन किया गया है।

सिक्किम में नई पार्टी सिक्किम युवा शक्ति फ्रंट (एसवाइएसएफ) का गठन किया गया है। ये पार्टी मुख्यमंत्री पवन चामलिंग के नेतृत्व वाली सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट की सरकार को टक्कर देने के लिए बनाई गई है। फ्रंट अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव में पूरे दम-खम के साथ चुनाव मैदान में उतरेगा। यह बातें नव गठित पार्टी एसवाइएसएफ के अध्यक्ष सुमन राई ने कही हैं। 



 

संवाददाताओं से उन्होंने कहा कि इस नई पार्टी को गठित करने का मुख्य उद्देश्य बेरोजगारी को खत्म करना है। राज्य में 1994 से ही एक पार्टी की सरकार है। सिक्किम में जिस तरह से बेरोजगारी बढ़ रही है, वह चिंता की बात है, जनता अब परिवर्तन चाह रही है। सिक्किम की जनसंख्या लगभग छह लाख है और मतदाता तीन लाख हैं। 


 

 

वर्तमान में 47 हजार पंजीकृत मतदाता हैं। सिक्किम बहुत छोटा राज्य है, लेकिन समस्याएं बहुत हैं। प्रत्येक वर्ष केंद्र सरकार से सिक्किम को 10 हजार करोड़ रुपये विशेष राशि के रूप में विकास के लिए दी जाती है। उसका सही ढंग से उपयोग नहीं हो रहा है। इस मौके पर एसवाइएसएफ  के महासचिव मंगर कुमार शर्मा समेत कई अन्य लोग भी उपस्थित थे।



भले ही एसवाइएसएफ सिक्किम में बेरोजगारी दर बढ़ने की बात कह रही है, लेकिन आंकड़ों की मानें तो सिक्किम प्रति व्यक्ति आय के मामले में पूर्वोत्तर के अन्य सभी राज्यों की तुलना में टॉप पर काबिज है। सिक्किम के लोगों की प्रति व्यक्ति वार्षिक आय 233954 रुपए है। जबकि राष्ट्रीय औसत आय 94731 रुपए है वहीं पूर्वोत्तर के दो राज्य अरुणाचल प्रदेश और मिजोरम के लोगों का प्रति व्यक्ति वार्षिक आय क्रमशः 123339 रुपए और 114524 है। जो राष्ट्रीय औसत से भी ज्यादा है। 




वहीं पूर्वोत्तर के शेष राज्यों का प्रति व्यक्ति औसत आय राष्ट्रीय आय से काफी कम है। जिसमें असम (60526 रुपए), मणिपुर (55603 रुपए), मेघालय (71318 रुपए) और नागालैंड (83621 रुपए) हैं। ये आंकड़े 10 अप्रैल को अगरताला में आयोजित हुए पूर्वोत्तर नीति फोरम की पहली बैठक में पेश किए गए दस्तावेजों में सामने आए हैं।  प्रति व्यक्ति आय को 2015-16 के दौरान एकत्रित आंकड़ों के आधार पर बनाया गया है, जिसमें साल 2011-12 को आधार के रूप में लिया गया है।