मोरान से लापता 5 साल की बच्ची का शव बरामद, विरोध में लोगों ने नेशनल हाईवे को किया जाम

Daily news network Posted: 2018-04-07 12:59:51 IST Updated: 2018-04-07 16:45:28 IST
मोरान से लापता 5 साल की बच्ची का शव बरामद, विरोध में लोगों ने नेशनल हाईवे को किया जाम
  • मोरान तिलैबाड़ी बंगाली गांव से लापता पांच साल की बच्ची का शव शनिवार की सुबह तिलैर्इ नदी से बरामद हुआ।

मोरान तिलैबाड़ी बंगाली गांव से लापता पांच साल की बच्ची का शव शनिवार की सुबह तिलैर्इ नदी से बरामद हुआ। शव के बरामद होने के बाद इलाके में सनसनी फैल गर्इ हैं। आरोपी का अभी पता नहीं लग पाया है। डिब्रूगढ़ जिला पुलिस के अतिरिक्त अधीक्षक सुरजीत सिंह पानेसर के नेतृत्व में माेरान पुलिस थाना प्रभारी भाष्कर ज्योति फुकन की टीम फरार आरोपी की तलाश में जुटी है। तो वहीं अखिल असम गण सुरक्षा समिति ने तिलैर्इ नगर में दोपहर दो बजे के बाद नेशनल हार्इवे-37 को अवरोध कर आरोपी को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने की मांग की है।

 


 


जानकारी के मुताबिक शनिवार की सुबह तिलैबाड़ी बंगाली गांव के दीपक टुडू की पांच साल की बेटी दीपिका टुडू के शव को तिलैर्इ नदी से बरामद किया गया है। दीपिका दो अप्रैल से लापता थी। परिजनों के मुताबिक दो अप्रैल को ही दीपिका सुबह दस बजे घर के दुकान के निकली थी आैर बीच में ही गायब हो गर्इ। इस पर दीपिका के घरवालों का आरोप था कि गांव का राजेन मार्डी उर्फ राजू मांझी उसे अपनी साइकिल पर बिठाकर उसे कहीं ले गया था। शाम होने के बाद जब दीपिका घर नहीं पहुंची तो घर में कोहराम मच गया।

 


 परिजनों ने हर जगह पर अपनी बेटी की तलाश की। दीपिका के कहीं न मिलने पर घरवालाें ने थक हार कर चार अप्रैल को मोरान थाने में मामला दर्ज करवाया। इसके बाद पुलिस दीपिका की तलाश में जुटी थी, जिसके बाद उसका शव शनिवार को नदी से बरामद किया गया।

 

 



परिजनों आैर स्थानीय लोगों का आरोप है कि राजेन मार्डी ने बच्ची को गलत इरादे से अगवा किया था आैर अब घटना के बाद राजेन भी लापता है। स्थानीय लोगों ने मामले की त्वरित कार्यवार्इ की मांग की है। बच्ची की शव की बरामदगी के बाद पुलिस ने राजेन की तलाशी का अभियान तेज कर दिया है आैर शव काे कब्जे में ले लिया है। शव को पोस्टमार्टम के लिए डिब्रूगढ़ स्थित असम मेडिकल काॅलेज भेजा गया हैं

 



मामले को लेकर अखिल असम गणसुरक्षा समिति की केंद्रीय समति के अध्यक्ष सुधेन गोगोर्इ आैर सचिव चंदन गोगोर्इ के नेतृत्व में करीब अाधे घंटे तक पथावरोध कर असम पुलिस आैर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।