नागालैंड में अब तक कोर्इ भी महिला नहीं बनी है MLA, जानिए इसके पीछे की कहानी

Daily news network Posted: 2018-02-14 09:34:05 IST Updated: 2018-02-14 09:37:06 IST
नागालैंड में अब तक कोर्इ भी महिला नहीं बनी है MLA, जानिए इसके पीछे की कहानी
  • 27 फरवरी नागालैंड में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए सभी राजनीतिक दलों ने तैयारी तेज कर ली है।

कोहिमा।

27 फरवरी नागालैंड में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए सभी राजनीतिक दलों ने तैयारी तेज कर ली है। इस बार होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए मैदान में नौ राजनीतिक पार्टियां और 257 निर्दलीय प्रत्याशी उतरे हैं, लेकिन इस बार ये चुनाव बेहद दिलचस्प होने वाला है क्योंकि इसमें पांच महिला उम्मीदवार भी शामिल हैं।

 


इससे पहले 2013 में हुए विधानसभा चुनाव में महज दो महिलाआें ने नामांकन दाखिल किया था लेकिन इस बार पांच महिलाएं चुनावी मैदान में हैं। बता दें कि अब तक नागालैंड विधानसभा चुनाव में कई महिला उम्मीदवार नहीं जीती है।

 


 1963 में नागालैंड राज्य की स्थापना होने के बाद से लेकर अब तक केवल 30 महिलाओं ने ही नामांकन दाखिल किया है। हालांकि 1977 में आम चुनाव जीतकर रानो एम शाइजा लोकसभा पहुंची थी। इसके बाद से न कोई महिला लोकसभा और न ही विधानसभा चुनाव जीती। ऐसे में इस बार सबकी नजर उन पांच महिलाओं पर होगी कि क्या ये इस बार के विधानसभा चुनाव को जीतकर इतिहास को बदल पाएंगी या नहीं।  

 


 विधानसभा चुनाव लड़ने वाली महिला प्रत्याशी अवान कोनयक का कहना है कि विधानसभा न पहुंचने के पीछे महिलओं की ही गलती है न की पुरुषों की, क्योंकि वो खुद राजनीति में आने से बचती रही हैं, लेकिन अब समय बदल रहा है और अब महिलाएं हर क्षेत्र में आगे हैं।

 


 इन पांच प्रत्याशियों में से एक उम्मीदवार नगालैंड के पूर्व शिक्षा मंत्री न्येईवांग कोनयक की बेटी हैं और वो नेशनल डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी की ओर से चुनाव मैदान में उतरी हैं। वहीं नगालैंड यूनिवर्सिटी में पॉलिटिकल साइंस की प्रोफेसर मोआमीनला आमेर भी चुनाव लड़ रही हैं।