सेशन कोर्ट का लैंडमार्क फैसला, पांच लोगों को मिली सजा, जानिए पूरी खबर

Daily news network Posted: 2019-06-24 18:24:26 IST Updated: 2019-06-24 21:19:44 IST
सेशन कोर्ट का लैंडमार्क फैसला, पांच लोगों को मिली सजा, जानिए पूरी खबर

गुवाहाटी

बिजनी सेशन कोर्ट ने एक लैंडमार्क फैसला सुनाते हुए वाइल्ड लाइफ कनून के तहत पांच लोगों को सात साल की सश्रम कारावास दिया है। वहीं सभी को पचास हजार रुपए की अर्थ दंड जुर्माना के रूप में भी भरना होगा। ये सभी आरोपी को वन्य जीव कानून को तोड़ते हुए पाया गया।

 


 

ये लोग मानस पार्क में जंगली जानवरों का शिकार कर रहे थे हिरण, पछी और अन्य जानवरों को मार रहे थे।वन्य विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि असम वन्य विभाग व बोडोलैंड टेरोटेरियल काउंसिल का अंतर्राष्ट्रीय स्तर से फंड आता है । 

 

 ये संगठन मानस पार्क के अधिकारियों व काम करने वालें लोगों को विशेष प्रशिक्षण देती है। ये संगठन फाॅरेस्ट के कर्मचारियों को  आपराधियों के खिलाफ मजबूत केस लिखने कि विधि बताता है। ये संगठन पिछले सात साल से ये काम कर रहा है। ये प्रशिक्षण तीन से सात दिनों तक चलता है। ये संगठन असम में ही नही बल्कि पूरे भारतवर्ष में काम कर रही है।

 


मनिक ब्रह्मा 59 वर्षीय फॉरेस्ट कर्मचारी है। वे 2020 में रिटयर होने वाले हैं। उन्होंने बताया है कि कुछ लोग क्षेत्र से अब तक 179 केस दर्ज करवा चूके हैं लेकिन अभी तक एक में ही भी सजा नहीं दिला पाए हैं।   उन्होंने आगे कहा कि मैंने वाइल्ड लाइफ ट्रस्ट ऑफ इंडिया के द्वारा आयोजित सभी प्रशिक्षण को किया है जिसके मेंटर बीएन तालुकदार थे वे 2013 में रिटायर हुए थे। उन्होंने कहा कि 2009 से 2018 तक 154 लोगों को आरोपी बनाया गया है। जिसमें सभी आरोपियों ने हाईकोर्ट में केस कर के छुट गए। अब तक इस प्रकार से अगर आरोपी छुटते रहे तो इससे उनका मनोबला और बढ़ेगा और वे दोबारा वे इसी  कार्य को पुनः अंजाम देंगे।