Employment एक्सचेंज ने दी छह वर्षों में मात्र 52 नौकरियां, रजिरट्रेशन हुए 90 हजार

Daily news network Posted: 2019-01-02 16:49:41 IST Updated: 2019-01-11 17:47:23 IST
Employment एक्सचेंज ने दी छह वर्षों में मात्र 52 नौकरियां, रजिरट्रेशन हुए 90 हजार
  • एंप्लायमेंट एक्सचेंज बेरोजगारों के रजिरट्रेशन कराने का एक मात्र सहारा है । बेरोजगार युवक यहीं रजिरट्रेशन कराकर रोजगार पाने के आस में रहते है। विगत छह वित्तीय वर्ष में इस कार्यालय के द्वारा केवल 52 बेरोजगार ही रोजगार पाने में सक्षम हुए हैं

असम

नगांव। एंप्लायमेंट एक्सचेंज बेरोजगारों के रजिरट्रेशन कराने का एक मात्र सहारा है । बेरोजगार युवक यहीं रजिरट्रेशन कराकर रोजगार पाने के आस में रहते है। विगत छह वित्तीय वर्ष में इस कार्यालय के द्वारा केवल 52 बेरोजगार ही रोजगार पाने में सक्षम हुए हैं जबकि बेरोजरागार शिक्षित युवकों का रजिरट्रेशन करीब 90 हजार है । सुचना के अधिकार तथ्य में इस बात का खुलासा हुआ है ।



 वहीं आरोप है कि हिंदीभाषी युवकों के रजिरट्रेशन कराने में काफी असुविधा होती है । उनसे विभिन्न प्रकार के अन्य कागजात मांगें जाते हैं ।  मिली जानकारी के अनुसार वर्तमान समय में यह संख्या करीब 90 हजार है । मजे की बात यह है कि सन 2013 में इस केंद्र से नौकरी पाने में कोई भी बेरोजगार सफल नहीं को पाया जबकि 2014 में केवल 18 लोग, 2015 में 13 लोग, 2016 में 11 और और 2017 में केवल 10 बेरोजगार ही नौकरी पाने में सफल हो सके । 



स्थानीय जागरूक लोगों ने बेरोजगार युवकों के रोजगार पाने के प्रतिशत को देखकर जागरूक लोगों ने चिंता व्यक्त की है । इन शिक्षित बेरोजगारों में ग्रेजुएट, आईटीआई डिप्लोमाधारी एवं अन्य शामिल है । लोगों का आरोप है कि ऐसे हालात पैदा होना एक चिंता का विषय है । इनमें कितना नियमों का पालन किया गया है यह एक शोध का विषय है ।