बड़ी जीत के बाद कोच की आंखों से निकले आंसू, खिलाड़ियों ने दिया ऐसा सम्मान

Daily news network Posted: 2019-02-08 15:49:56 IST Updated: 2019-02-08 15:49:56 IST
बड़ी जीत के बाद कोच की आंखों से निकले आंसू, खिलाड़ियों ने दिया ऐसा सम्मान

छत्तीसगढ़ में पहली बार हुए ईस्ट जोन क्वालिफाईंग राउंड में सिक्किम ने बड़ा उलटफेर करते हुए बंगाल को हराकर ईस्ट जोन से क्वालिफाई कर लिया है। ग्रुप बी के अंतिम लीग मैच में बंगाल और सिक्किम के बीच मैच खेला गया। टूर्नामेंट में क्वालिफाई करने के लिए सिक्किम को ड्रॉ और बंगाल को जीत की जरूरत थी।

 

 


 सिक्किम और बंगाल के बीच यह मैच 1-1 की बराबरी पर छूटा। सिक्किम की तरफ से जर्सी नंबर 17 सोनम जान्ग्पो भूटिया ने 12 वे मिनट में गोल कर टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी, लेकिन पहले ही हाफ में मैच के 40वें मिनट में बंगाल के खिलाड़ी अर्जित सिंह ने गोल कर स्कोर बराबर कर दिया। दूसरे हाफ में दोनों ही टीम कोई गोल नहीं कर सकी। भिलाई में संतोष ट्रॉफी के मैच में दो पूल में 6 टीमों का शामिल किया गया था, जिसमें छत्तीसगढ़ की टीम ने पहले मैच में जीत हासिल की और दूसरे मैच में हार कर बाहर हो गई।

 

 

 


 बंगाल जैसी मजबूत टीम के खिलाफ 90 मिनट मैदान पर संघर्ष करने वाली सिक्किम की टीम ने ईस्ट जोन से क्वालिफाई कर लिया है। क्वालिफाई होने के बाद टीम के कोच के आंख से आंसू निकल आए। सभी खिलाड़ियों ने कोच को इसके लिए सम्मान दिया और पूरे मैदान में उनको घुमाया। खिलाड़ियों ने मैदान पर जमकर मस्ती की। दूसरे हाफ में रणनीति बदलते हुए सिक्किम के खिलाड़ियों ने अटैक खेलना शुरू किया। बंगाल और सिक्किम के खिलाड़ियों ने सेकंड हाफ में तेजी से अटैक किया। लेकिन दोनों ही टीम के गोलकीपर से बॉल लौटकर आ गई।

 

 


मैच कांटे की टक्कर का रहा। जिसमें बंगाल की टीम को मैच के दौरान दो अच्छे मौके मिले। लेकिन गोल पोस्ट से टकरा कर बॉल बाहर आ गई। बंगाल के खिलाड़ियों ने गोल के लिए शुरू से ही अटैक खेला लेकिन किस्मत ने बंगाल की टीम का साथ नहीं दिया और टीम के तरफ से दूसरा गोल नहीं हो सका। और अंत मेें मुकाबला बेनतीजा खत्म हुआ। क्वालिफाईंग राउंड पूल ए से ओडिसा ने छत्तीसगढ़ को हराकर क्वालिफाई किया तो वहीं सिक्किम की टीम पूल बी से क्वालिफाई करने में सफल हुई। गुरुवार को हुए मैच के रेफरी आकाश कुमार मेहता, प्रतिक अरुण बजाज, शिव कुमार, आदित्य पुर्काय्स्थ मैच कमिशनर शैलेश लक्ष्मण एवं रेफरी एसेसर नवीन जयदीप सूंडी थे।