विस उपाध्यक्ष पद को लेकर शुरू राजनीतिक हलचल, ये है दावेदार

Daily news network Posted: 2018-05-11 12:14:36 IST Updated: 2018-05-11 12:48:34 IST
विस उपाध्यक्ष पद को लेकर शुरू राजनीतिक हलचल, ये है दावेदार
  • असम में विधानसभा उपाध्यक्ष दिलीप कुमार पाॅल के इस्तीफे के बाद अब राज्य का अगला उपाध्यक्ष कौन होगा इसे लेकर दिसपुर में राजनीतिक हलचल शुरू हो गर्इ है।

गुवाहाटी।

असम में विधानसभा उपाध्यक्ष दिलीप कुमार पाॅल के इस्तीफे के बाद अब राज्य का अगला उपाध्यक्ष कौन होगा इसे लेकर दिसपुर में राजनीतिक हलचल शुरू हो गर्इ है। बता दें कि उपाध्यक्ष दिलीप कुमार पाॅल ने मंगलवार को अपने पद से इस्तीफा दिया। हालांकि विधानसभा अध्यक्ष हितेंद्र नाथ गोस्वामी ने पाॅल के इस्तीफे को लेकर कोर्इ फैसला नहीं लिया है।

 

 


भाजपा के दो विधायकों के नाम आए सामने

 

सूत्रों के मुताबिक दिसपुर में सत्तारूढ़ भाजपा आैर इसके सहयोगी दल अगप में विधानसभा उपध्यक्ष के पद को लेकर खींचतान शुरू हो गर्इ है। एेसा बताया जा रहा है कि भाजपा अपने किसी अनुभवी विधायक का इस पद पर आसीन करना चाहती है। उपाध्यक्ष पद को लेकर दो विधायकाें के नाम पर चर्चा भी चल रही है। बता दें कि इस दौड़ में बिहपुरिया के विधायक देवानुद हजारिका आैर बैठालांग्सु के विधायक वीरभद्र हाग्जोर है। दोनों विधायकों के नाम चर्चा में अाने के बाद राज्य में भाजपा की सहयोगी दल अगप भी पद पर नजर गड़ाए हुए है।

 

 


अगप के सूत्र ने बताया कि टियोक की महिला विधायक रेणुपमा राजखोवा को इस पद आसीन कराने के लिए अगप खेमें में दबाव बनाया जा रहा है। खबराें के मुताबिक जाेरहाट के भाजपा विधायक हितेंद्र नाथ गोस्वामी के अध्यक्ष पद होने के बाद अब अगप उपाध्यक्ष पद पर अपने किसी विधायक को होने पर जोर दे रही है।

 

 


...तो क्या इसलिए पाॅल ने दिया इस्तीफा?

दिसपुर के सूत्र ने यह दावा किया है कि सरकार में सहयोगी दल को समानता दिलाने के लिए उपाध्यक्ष पद से दिलीप कुमार पाॅल को इस्तीफा देने को कहा गया ताकि खाली पद पर सहयोगी दल के किसी विधायक को उपाध्यक्ष का पद सौंपा जा सके। इससे दोनों दलों में अच्छा तालमेल होगा ।

 


अगप विधायक रेणुपमा को मिल सकता है पद


विधानसभा सचिवालय के सूत्र ने बताया कि काफी चर्चा के बाद अगप के दूसरे शासनकाल में उपाध्यक्ष रही टियाेक की मौजूदा विधायक रेणुपमा का नाम सामने आया है। जिस पर मुख्यमंत्री साेनोवाल ने भी हामी भर दी है। तो एेसे में राजखाेवा के उपाध्यक्ष पद पर आसीन होने की संभावनाए ज्यादा है।