दिल्ली पुलिस ने पकड़े मणिपुर के हाईटेक कार चोर, एक एमबीए, तो दूसरा पुलिस कांस्टेबल

Daily news network Posted: 2018-04-12 10:42:38 IST Updated: 2018-04-12 16:42:50 IST
दिल्ली पुलिस ने पकड़े मणिपुर के हाईटेक कार चोर, एक एमबीए, तो दूसरा पुलिस कांस्टेबल
  • दिल्ली पुलिस ने महंगी कार चुराने वाले एक हाईटेक गिरोह का पर्दाफाश किया है, इन चार लोगो के गिरोह में एक चोर एमबीए है तो दूसरा पुलिस में कांस्टेबल।

इंफाल

दिल्ली पुलिस ने लग्जरी कार चुराने वाले एक हाईटेक गिरोह का पर्दाफाश किया है। इन चार लोगों के गिरोह में एक एमबीए है, तो दूसरा पुलिस में कांस्टेबल। इनके पास से बीएमडब्लू 7 ,फॉर्च्यूनर, क्रेटा और होंडा एकॉर्ड जैसी 16 महंगी गाड़ियां बरामद हुई हैं। यह गैंग मणिपुर का है। आरोपी दिल्ली से गाड़ियां चुराकर मणिपुर ले जाते थे, जहां फर्जी दस्तावेजों के आधार पर इनका दुबारा रजिस्ट्रेशन होता था।


 


 



यह गैंग बड़े ही शातिराना अंदाज से कारें चोरी करता था। दक्षिण दिल्ली के डीसीपी रोमिल बानिया ने बताया कि ये गैंग बीएमडब्ल्यू गाड़ी को छोड़कर अन्य कारों को बड़ी ही आसानी से चुरा लेता था। ये लोग गाड़ी का कांच तोड़कर सेंट्रल लॉक वायर को काट देते थे। इसके बाद डुप्लीकेट चाबी से कार को चुरा लिया जाता था।  पूछताछ में ये भी बात सामने आई है कि यह लोग ड्राइवर का ध्यान भटकाकर गाड़ियों की नकली चाबियां बनवाते थे।


 


 पुलिस ने इस मामले में मणिपुर के अस्कर अहमद, मोहम्मद फकरुद्दीन, एस चोरोजीत सिंह और अब्दुल गफ्फार खान को गिरफ्तार किया । पुलिस के मुताबिक सबसे पहले पुष्प विहार इलाके से अस्कर को पकड़ा गया और फिर पूरा गैंग हाथ आया। पुलिस के मुताबिक ये गैंग अब तक 50 से ज्यादा गाड़ियां मणिपुर भेज चुका है। आरोपियों में अस्कर एमबीए है, जबकि फकरुद्दीन मणिपुर पुलिस में कांस्टेबल है। गैंग के पास से 8 पिस्टल और 16 कारतूस भी बरामद हुए हैं। 

 

 


 रोमिल बानिया ने बताया कि वे गाड़ियां जो एक्सिडेंट के बाद टोटल लॉस डिक्लेयर होती हैं, उनके फर्जी दस्तावेज बनाकर बनाए जाते थे। एक फर्जी एनओसी दिल्ली या हरियाणा में तैयार करवाई जाती थी। इसके बाद गाड़ी चोरीशुदा नहीं है इसका एक एनसीआरबी सर्टिफिकेट भी फर्जी तरीके से बनाते थे।  गिरोह अंत में इन फर्जी दस्तावेजों के दम पर  मणिपुर ट्रांसपोर्ट अथॉरिटीज से गाड़ी का नया रजिस्ट्रेशन नंबर इश्यू करवा लेता था।