देश को मिले 92 प्रशिक्षु IPS, पास होते ही गृहमंत्री शाह ने दी ऐसी नसीहत

Daily news network Posted: 2019-08-25 09:38:30 IST Updated: 2019-08-25 09:47:00 IST
देश को मिले 92 प्रशिक्षु IPS, पास होते ही गृहमंत्री शाह ने दी ऐसी नसीहत
  • राष्ट्रीय पुलिस अकादमी से देश को 92 नए भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) प्रशिक्षु पास आउट हुए हैं। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह 70वीं पासिंग आउट परेड के मौके पर हैदराबाद के सरदार वल्लभ भाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी में मौजूद रहे।

नई दिल्ली/गुवाहाटी।

राष्ट्रीय पुलिस अकादमी से देश को 92 नए भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) प्रशिक्षु पास आउट हुए हैं। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह 70वीं पासिंग आउट परेड के मौके पर हैदराबाद के सरदार वल्लभ भाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी में मौजूद रहे। इन 92 प्रशिक्षुओं में 12 महिला प्रशिक्षु भी शामिल हैं। पुलिस अकादमी हैदराबाद से 92 प्रशिक्षुओं के अलावा रॉयल भूटान पुलिस के 6 अधिकारी और नेपाल पुलिस के 5 अधिकारी भी पास आउट हुए।


 राष्ट्रीय पुलिस अकादमी के निदेशक अभय ने बताया कि भावी आईपीएस अफसरों की ट्रेनिंग दो चरणों में पूरी हुई है। पहले चरण में 28 हफ्ते और दूसरे चरण में 13 हफ्तों की ट्रेनिंग हुई है। इन प्रशिक्षुओं में 57 इंजीनियरिंग में स्नातक हैं, 11 मेडिकल में जबकि 7 बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर्स हैं। हैदराबाद के सरदार वल्लभ भाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी से पास आउट हुए अधिकतर प्रशिक्षु साधारण पृष्ठभूमि के हैं। दिल्ली के गौस आलम को सर्वश्रेष्ठ ऑल राउंड प्रशिक्षु चुना गया। उन्हें सर्वश्रेष्ठ ऑल राउंड प्रशिक्षु होने के नाते प्रधानमंत्री का बैटन और गृह मंत्रालय का रिवॉल्वर प्रदान किया गया।


पढ़ाई के लिए आलम को मेहता कप भी मिला और अन्य विषयों में अच्छी जानकारी होने के नाते उन्हें बीएसएफ ट्रॉफी भी प्रदान की गई। बताते चलें कि गौस आलम को तेलंगाना कैडर सौंपा गया है और उन्होनें आईआईटी बॉम्बे से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में अपनी पढ़ाई पूरी की है। उत्तीर्ण हुए इन आईपीएस प्रशिक्षुओं में से 14 उत्तर प्रदेश को आवंटित किए गए हैं, 8 पश्चिम बंगाल को और 7 को महाराष्ट्र कैडर सौंपे गए हैं। साथ में तेलंगाना और आंध्र प्रदेश को 3, जम्मू-कश्मीर, असम, मेघालय, छत्तीसगढ़, हिमाचल प्रदेश, सिक्किम और त्रिपुरा में एक-एक प्रशिक्षु आवंटित किए गए हैं।


 शाह की नसीहत, आपीएस प्रशिक्षु लोगों का सम्मान करें


 केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने शनिवार को भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के प्रशिक्षुओं से ईमानदारी से काम करने तथा लोगों का सम्मान करने का आह्वान किया। शाह यहां सरदा वल्लभ भाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी में दीक्षांत परेड का में शामिल आईपीएस प्रशिक्षुओं की सलामी लेने और परेड का निरीक्षण करने के बाद कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि नवागत आईपीएस अधिकारियों को देश के सर्वांगीण विकास के लिए भी यत्न करना चाहिए।

 


 उन्होंने कहा कि अधिकारी आईपीएस प्रशिक्षुओं को अपनी उपलब्धि से संतुष्ट नहीं होना चाहिए, बल्कि करोड़ों गरीबों के उत्थान के प्रयासों में लगाना चाहिए। उन्होंने जोर दिया कि देश में जहां भी आईपीएस अधिकारी तैनात हैं, उन्हें पूरी निष्ठा से अपने कर्तव्यों का निर्वहन करना चाहिए और परिणाम हासिल करना चाहिए। उन्होंने देश के प्रथम उप प्रधानमंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि उनके (श्री पटेल) ही प्रयासों का नतीजा था कि तत्कालीन हैदराबाद राज्य भारतीय संघ में शामिल हुआ।

 


 उन्होंने कहा कि दिवंगत नेता का जम्मू कश्मीर में संविधान के अनुच्छेद 370 हटाये जाने का सपना सच हो गया था। शाह ने दशकों पुरानी कश्मीर समस्या के समाधान के लिए मोदी सरकार की भी सराहना की। समारोह में तेलंगाना के राज्यपाल ईएसएल नरसिम्हन, केंद्रीय गृहराज्य मंत्री जी किशन रेड्डी, प्रदेश के गृहमंत्री मोहम्मद महमूद अली और अन्य गणमान्य हस्तियां मौजूद थी।