विवादित क्षेत्र में चल रहा था पुलिस थाने का निर्माण कार्य, विरोध के बाद सरकार ने कराया बंद

Daily news network Posted: 2018-04-09 13:17:22 IST Updated: 2018-04-09 16:03:16 IST
विवादित क्षेत्र में चल रहा था पुलिस थाने का निर्माण कार्य, विरोध के बाद सरकार ने कराया बंद
  • मेघालय विधानसभा में मुख्यमंत्री कोनराड संगमा ने गुरूवार को बताया कि राज्य के विवादित ब्लाॅक II री-भोई जिले में असम पुलिस चौकी का निर्माण कार्य बंद कर दिया गया है।

मेघालय विधानसभा में मुख्यमंत्री कोनराड संगमा ने बताया कि राज्य के विवादित ब्लाॅक II री-भोई जिले में असम पुलिस चौकी का निर्माण कार्य बंद कर दिया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मेघालय के मुख्य सचिव आैर उपायुक्त के अनुरोध के बाद निर्माण कार्य को बंद करवा दिया है।  

  

 


 मेघालय विधानसभा में शून्यकाल के दौरान उमरू गांव के विधायक जार्ज बी लिंग्दोह के सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री कोनराड संगमा ने बताया कि उमरू गांव में हो रहा पुलिस चौकी का निर्माण कार्य असम सरकार द्वारा 23 मार्च को बंद कर दिया गया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि असम के अधिकारियों  ने पिछले साल नवंबर में एक पुलिस चौकी को स्थापित करने के लिए उमरू गांव का दौरा किया था, जिसके बाद पुलिस चौकी का काम 14 मार्च से शुरू किया गया था।

 

 

विरोध के बाद बंद हुआ निर्माण कार्य

कार्यस्थल पर निर्माण सामग्री आ चुकी थी आैर दस मजदूर काम कर रहे थे। गांव के स्थानीय लोग आैर री-भोरी के डिप्टी कमीश्नर के कड़े विरोध के बाद 20 मार्च को काम बंद कर दिया गया था, लेकिन असम के पश्चिमी कार्बी आंगलोंग जिले के अधिकारियों के निर्देश के बाद काम दोबारा से शुरू किया था। संगमा ने  बताया कि मेघालय के मुख्य सचिव के अनुरोध के बाद 22 मार्च  को निर्माण कार्य को बंद कर दिया गया।

 

 


विवाद की वजह


इससे पहले प्रश्नकाल के दौरान पूछे गए सवाल के जवाब में संगमा ने कहा कि दोनों पड़ोसी राज्यों के बीच विवाद राजनीतिक मैप है। साथ ही उन्हाेंने आश्वस्त किया है कि राज्य सरकार काफी समय से लंबित इस समस्या का हल ढूंढ़ने की कोशिश कर रही है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने कहा कि मेघालय के विवादित इलाकों के लिए राजनीतिक मैप उपलब्ध करवाया जाएगा।

  

 


मसले को हल करने के लिए हुआ था समिति को गठन

संगमा ने कहा कि केंद्र ने इस मसले को हल करने के लिए 1985 में वार्इ वी चंद्रचूड़ समिति का गठन किया था। बता दें कि मेघालय आैर असम में 884 किमी लंबी अंतरराज्यीय सीमा तक एेसे 12 इलाके हैं। मेघालय आैर असम का सीमावर्ती क्षेत्र उमरू भी विवादित क्षेत्र हैं। जहां पुलिस चौकी का निर्माण कार्य चल रहा था।