ठाणे सीडीआर मामले में गिरफ्तार हुआ असम पुल‍िस कांस्टेबल

Daily news network Posted: 2018-04-03 16:35:46 IST Updated: 2018-04-03 16:35:46 IST
ठाणे सीडीआर मामले में गिरफ्तार हुआ असम पुल‍िस कांस्टेबल
  • मुम्बर्इ क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने सीआरडी मामले में असम के एक पुलिस की पहचान कर ली है।

नर्इ दिल्ली।

मुम्बर्इ क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने सीआरडी मामले में असम के एक पुलिस की पहचान कर ली है। सीडीआर रैकेट में शाम‍िल होने की सूचना असम पुल‍िस को दी गई है। अब उसे अरेस्‍ट करके मुंबई लाया जाएगा।

 

 


 

 मुम्बर्इ क्राइम ब्रांच के पुलिस अध‍िकारी ने बताया कि सीडीआर मामले में उन्‍हें सूचना म‍िली और इसकी जानकारी असम पुल‍िस को दे दी गई है। असम पुलिस ने सूचना म‍िलते ही हाफलांग थाने से जुड़े कांस्टेबल भुवनेश्वर दास को गिरफ्तार किया। पुलिस की साइबर प्रकोष्ठ के साथ काम कर रहे दास ने अवैध तरीके से सीडीआर हासिल किया।

 

 

 


 यह सारा रेकॉर्ड ठाणे से गिरफ्तार रैकेट में शामिल एक व्यक्ति के पास से मिला। उन्होंने कहा, हाफलांग थाने में दास के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। उसे ठाणे लाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है।

 

 

 

 सीडीआर लीक मामले में ठाणे पुलिस यवतमाल जिले के एक कॉन्स्टेबल नितिन खावड़े को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। वह भी साइबर प्रकोष्ठ में तैनात था।

 

 

 

 क्या है CDR स्कैम

 

 

 आपको बता दें मोबाइल कंपनियों के पास हर दिन, हर घंटे, हर मिनट का डाटा तैयार होता रहता है जिसमें आपकी लोकेशन, किससे बात कर रहे हैं इसका रिकॉर्ड होता है. ये निजी जानकारी सीडीआर के रूप में होती है जिसे खरीदना और बेचना पूरी तरह से गैरकानूनी है. कुछ दिनों पहले ही सीडीआर केस में महिला जासूस रजनी पंडित की गिरफ्तारी के साथ इस मामले का खुलना शुरू हुआ, अब तक इस मामले में 12 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी हैंं।

 

 

 

 मामले में सबसे पहला नाम नवाजुद्दीन सिद्दीकी का आया था। CDR केस में ठाणे पुलिस ने अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी, उनकी पत्नी और वकील को नोटिस भेजा था, जिसके बाद अभी तक उनकी तरफ से पुलिस के सामने बयान दर्ज नहीं कराया गया है। इसी के चलते उनके वकील को गिरफ्तार कर लिया गया।