Congress मुक्त हुआ पूर्वोत्तर, अगले साल होगी वापसी!

Daily news network Posted: 2018-12-15 10:20:57 IST Updated: 2018-12-27 17:09:07 IST
Congress मुक्त हुआ पूर्वोत्तर, अगले साल होगी वापसी!
  • पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के दाैरान कांग्रेस ने तीन राज्यों मध्यप्रदेश, राजस्थान आैर छत्तीसगढ़ में जीत हासिल कर चुनाव में वापसी की है।

आइजोल।

पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के दाैरान कांग्रेस ने तीन राज्यों मध्यप्रदेश, राजस्थान आैर छत्तीसगढ़ में जीत हासिल कर चुनाव में वापसी की है। लेकिन पूर्वोत्तर के अंतिम गढ़ मिजोरम में उसे करारी हार का सामना करना पड़ा। अब क्या पूर्वोत्तर में वापसी कर सकती है?

 

 


इन  राज्यों से है कांग्रेस का उम्मीद

 यह सवाल इसलिए है क्योंकि पूर्वोत्तर के सात राज्यों में कांग्रेस का सफाया हो गया है। उसकी आखिरी सरकार मिजोरम में थी, जो चली गई है। एेसा पहली बार हुआ है जब पूर्वोत्तर के किसी राज्य में कांग्रेस की सरकार नहीं है। एेसे में कांग्रेस के नेता वहां वापसी का मौका तलाश रहे हैं और उनको लग रहा है कि पहला मौका अगले साल सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश के चुनाव से मिल सकता है। अरुणाचल प्रदेश से कांग्रेस को बड़ी उम्मीद है।

 

 

 काग्रेस के हैं सिर्फ तीन विधायक

 इस प्रदेश की राजनीति ने पिछले चार साल में इतने टर्न लिए हैं, जितने एक विधानसभा में शायद किसी और राज्य ने नहीं लिए होंगे। राज्य में तीन बार मुख्यमंत्री बदले। एक मुख्यमंत्री ने आत्महत्या की और कांग्रेस की पूरी पार्टी ही भाजपा में बदल गई। 60 सदस्यों की विधानसभा में भाजपा के 48 विधायक हैं और कांग्रेस के सिर्फ तीन विधायक हैं। कांग्रेस के मुख्यमंत्री रहे पेमा खांडू इस समय भाजपा के मुख्यमंत्री हैं। कांग्रेस के नेता उम्मीद कर रहे हैं कि अगले साल लोकसभा के साथ होने वाले अरुणाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव से पूर्वोत्तर में कांग्रेस की वापसी शुरू हो सकती है।

 


मिजोरम में कांग्रेस की हार

 बता दें कि मिजोरम चुनाव के दौरान कांग्रेस को एमएनएफ से करारी हार का सामना करना पड़ा। बुधवार को आए चुनाव नतीजाें में विपक्षी रही एमएनएफ को 26 सीटें मिली वहीं 2013 के चुनाव में 34 सीटें लाने वाली कांग्रेस को पांच सीटों से ही संतोष करना पड़ा। अन्य को आर्इ तो भाजपा ने भी पहली बार एक सीट जीत कर अपना खाता खोल लिया है।