असम में बोले शिमला के परिवहन मंत्री, केंद्र पहाड़ी राज्यों के लिए अलग से बनाए परिवहन नीति

Daily news network Posted: 2018-04-21 11:20:09 IST Updated: 2018-04-21 12:52:10 IST
असम में बोले शिमला के परिवहन मंत्री, केंद्र पहाड़ी राज्यों के लिए अलग से बनाए परिवहन नीति
  • गुवाहाटी में आयोजित परिवहन मंत्री समूह की दो दिवसीय बैठक के दौरान शिमला के परिवहन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने भी हिस्सा लिया। इस बैठक में परिवहन मंत्री ने कर्इ मुद्दे उठाए।

गुवाहाटी।

गुवाहाटी में आयोजित परिवहन मंत्री समूह की दो दिवसीय बैठक के दौरान शिमला के परिवहन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने भी हिस्सा लिया। इस बैठक में परिवहन मंत्री ने कर्इ मुद्दे उठाए। उन्होंने पहाड़ी राज्यों में सड़क दुर्घटनाओं की रोकथाम के उपायों, सड़क सुरक्षा, करों के एकीकरण, बसों के लिए राष्ट्रीय परमिट व्यवस्था, वाहन पंजीकरण और ड्राइविंग लाइसेंस की एकरूपता जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर राज्य का पक्ष मजबूती से रखा।



ठाकुर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश की  भौगोलिक स्थितियों के अनुरूप राज्य के हितों की रक्षा की जानी चाहिए। कठिन भौगोलिक परिस्थितियाें वाला पहाड़ी प्रदेश होने के बावजूद भी हिमाचल में नई तकनीकी के विभिन्न आयामों का प्रयोग करते हुए नागरिक सेवाओं में सुधार के लिए प्रदेश निरंतर नई ऊंचाइयों की ओर अग्रसर है।

 

 


 

 बैठक में परिवहन मंत्री ने रखी मांग

 

गुवाहाटी में आयोजित इस बैठक के दौरान परिवहन मंत्री ने कहा कि विकट स्थितियों और जमीन के अभाव के चलते यहां रोपवे,  स्काई बस,  मोनो रेल जैसे वैकल्पिक यातायात के साधनों को विकसित किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि परिवहन मंत्री समूह के सभी मंत्रियों ने उनके इस सुझाव को सराहा।

 

 


उनके इसी सुझाव के चलते पहाड़ी राज्यों में इस प्रकार की परिवहन व्यवस्था विकसित करने के लिए असम के परिवहन मंत्री चंद्र मोहन पटवारी की अध्यक्षता में एक उप समूह का गठन किया गया, जो तय समय सीमा के भीतर मंत्री समूह को अपनी सिफारिश प्रस्तुत करेगा।

 


गोविंद सिंह ने बैठक के दौरान हिमाचल की संस्कृति, प्राकृतिक सुंदरता एवं देव संस्कृति से भी अवगत करवाया। उन्होंने प्रदेश में राज्य सरकार के 100 दिनों के कार्यकाल के दौरान विभिन्न उपलब्धियों का भी विवरण दिया। इस अवसर पर विभिन्न राज्यों के मंत्री और वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।