अबुल कलाम व नजमा हेपतुल्ला की विवादित तस्वीर के साथ की गई थी छेड़छाड़

Daily news network Posted: 2018-04-11 12:37:31 IST Updated: 2018-06-26 14:41:13 IST
अबुल कलाम व नजमा हेपतुल्ला की विवादित तस्वीर के साथ की गई थी छेड़छाड़
  • सीबीआई ने दिल्ली उच्च न्यायालय को बताया कि देश के पहले शिक्षा मंत्री के जीवन पर आधारित एक किताब में प्रकाशित मौलाना अबुल कलाम आजाद

इंफाल

सीबीआई ने दिल्ली उच्च न्यायालय को बताया कि देश के पहले शिक्षा मंत्री के जीवन पर आधारित एक किताब में प्रकाशित मौलाना अबुल कलाम आजाद और नजमा हेपतुल्ला की एक विवादित तस्वीर के साथ छेड़छाड़ की गई है, लेकिन इसके लिए जिम्मेदार व्यक्ति की पहचान अभी की जानी बाकी है।

 


 केंद्रीय जांच एजेंसी का यह अभिवेदन इसके पूर्व के रुख के विपरीत है जब इसने कहा था कि इस दावे के समर्थन में पर्याप्त साबुत नहीं है कि तस्वीर से छेड़छाड़ की गई गई है। हालांकि इसने न्यायमूर्ति राजीव शकधर की पीठ को बताया कि इसकी जांच में खुलासा हुआ है कि 'सम्बंधित तस्वीर से छेड़छाड़ की गई है'। अदालत ने कहा कि सुनवाई की अगली तारीख पर जांच में जिम्मेदार व्यक्ति की पहचान नहीं होने से सम्बंधित पहलू पर गौर किया जाएगा।

 

 


 सीबीआई ने अदालत को यह भी बताया कि सुनवाई की अगली तारीख पर वह दो केस डायरियों के साथ किताब के प्रकाशक का बयान भी रखेगी। अदालत आजाद के पौत्र फिरोज बख्त अहमद की याचिका पर सुनवाई कर रही थी जिन्होंने आरोप लगाया है कि तस्वीर से छेड़छाड़ हेपतुल्ला ( मणिपुर की राज्यपाल) के इशारे पर उस समय की गई जब वह भारतीय सांस्कृतिक सम्बन्ध परिषद (आईसीसीआर) की प्रमुख थीं।

 


 बता दें कि सम्बंधित तस्वीर भारत के पहले शिक्षा मंत्री के जीवन पर आधारित किताब 'जर्नी ऑफ़ ए लीजेंड' में प्रकाशित हुई है जिसमें वह ग्रेजुएशन के बाद आजाद के साथ बैठी हैं।