असम: अंधे भिखारी ने रिश्तों को किया तार-तार, नाबालिग बेटी से 4 महीने तक किया रेप

Daily news network Posted: 2018-04-24 10:42:38 IST Updated: 2018-04-24 12:00:11 IST
असम: अंधे भिखारी ने रिश्तों को किया तार-तार, नाबालिग बेटी से 4 महीने तक किया रेप
  • मामला लखीमपुर का है, जहां एक पिता ने ही अपनी नाबालिग बेटी के साथ चार महीने तक बलात्कार किया है।

लखीमपुर।

असम से रिश्तों को तार-तार करने वाली खबर आई है। मामला लखीमपुर का है, जहां एक पिता ने ही अपनी नाबालिग बेटी के साथ चार महीने तक बलात्कार किया है। आरोपी अंधा है, वह भीख मांगकर अपना गुजारा करता है। असम पुलिस ने आरोपी का मेडिकल टेस्ट कराया, जिसके बाद 40 साल के शेखर अली को रेप के आरोप में गिरफ्तार कर लिया।


 


 

इस मामले की जांच कर रहे लखीमपुर पुलिस अधीक्षक सुधाकर सिंह ने कहा कि भिखारी को उसकी पत्नी नवंबर में छोड़कर चली गई थी, जिसके बाद से पिता अपनी बेटी के साथ दुष्कर्म करता रहा। पिता की इस हरकत को एक पड़ोसी ने देख लिया।जब दूसरे पड़ोसियों को इस बारे में पता चला तो आरोपी की खूब पिटाई की और वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया। 



 

मामला बढ़ा तो स्थानीय महिला संघ ने रविवार रात को पुलिस को इस बारे में जानकारी दी और लड़की और उसके छोटे भाई को पिता के चंगुल से आजाद कराया। पुलिस ने आरोपी के पिता को गिरफ्तार करने की कोशिश की, लेकिन वो शहर भाग गया, जहां से उसे गिरफ्तार किया गया। लखीमपुर पुलिस अधीक्षक सुधाकर सिंह ने कहा कि घटना बच्ची के घर पर हुई, जहां बच्चियों को सुरक्षित समझता जाता है। इस मामले में सबसे चौंकाने वाला है पिता का आरोपी होना। ये केस समाज में नैतिक गिरावट को दिखाता है। ये मामला सामने आने के बाद कई लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया। 



 

असम में ये इस तरह के पहले मामले नहीं हैं, जिनमें नाबालिगों को दरिंदों ने अपना निशाना बनाया हो। 18 अप्रैल को गुवाहाटी में एक सिक्योरिटी गार्ड को गिरफ्तार किया गया था। आरोप था कि उसने 10 साल के एक मासूम के साथ कुकर्म करने का प्रयास किया था। नागांव जिले में पिछले महीने यहां पर 11 साल की बच्ची का तीन लोगों ने गैंगरेप किया गया था, जिसमें दो नाबालिग शामिल थे। दरिंदों ने वारदात के बाद पीडि़ता को जिंदा जला दिया था। यह मामला उन्नाव और कठुआ गैंगरेप मामलों की तरह ही बेहद संवेदनशील माना गया था।