कलिता के BJP में शामिल होने की खबरों से राजनीतिक घमासान, 370 पर Congress के स्टैंड को लेकर दिया था इस्तीफा

Daily news network Posted: 2019-08-07 11:52:18 IST Updated: 2019-08-07 17:43:17 IST
  • कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद भुवनेश्वर कलिता को राज्यसभा भेजना असम प्रदेश भाजपा को गंवारा नहीं है।

गुवाहाटी

कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद भुवनेश्वर कलिता को राज्यसभा भेजना असम प्रदेश भाजपा को गंवारा नहीं है। पार्टी में कलिता के नाम पर विरोध तेजी से शुरू हो गया है। नेताओं में नाराजगी साफ दिखाई दे रही है, जिसे देखते हुए कलिता का भाजपा के टिकट पर राज्यसभा पहुंचने की संभावना कम दिखाई दे रही है। ज्ञात हो कि सोमवार को उन्होंने राज्यसभा से इस्तीफा दे दिया था।

 

 

हो रहा विरोध

उधर पार्टी नेताओं का कहना है कि मोल-भाव करके आने वाले नेताओं को पार्टी में शामिल होते ही टिकट देने से पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं में गलत संदेश जाता है। इस विरोध को देखते हुए कलिता का भाजपा में शामिल होने पर विराम लग गया है। वे राज्यसभा के टिकट का आश्वासन मांग रहे हैं तो भाजपा कर रही है कि वे पहले पार्टी में शामिल हों इसके बाद विचार किया जाएगा।

 

 


विचार कर रही पार्टी

सूत्रों का कहना है कि प्रदेश भाजपा के विरोध को देखते हुए पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व कलिता को राज्यसभा भेजने की जगह राज्यपाल बनाने पर विचार कर रहा है। दरअसल अगले साल अप्रैल में भुवनेश्वर कलिता और संजय सिंह की सीटें खाली होने जा रही थीं, लेकिन संयज सिंह के इस्तीफे के बाद सोमवार को नाटकीय ढंग से कलिता ने राज्यसभा से इस्तीफा दे दिया जिसके बाद खाली हुई राज्य की दो सीटों को लेकर नेताओं के बीच हलचल मची है। बताया जा रहा है कि नेडा अध्यक्ष तथा राज्य के वित्त एवं स्वास्थ्य मंत्री डा. हिमंत विश्व शर्मा राज्यसभा जा सकते हैं। तो दूसरी सीट के लिए अगप से आए जगदीश भुयां और पार्टी के पुराने नेता विजय गुप्ता में से किसी एक की लाॅटरी लग सकती है।