असम : ठेलागाड़ी में दिया बच्चे को जन्म, ये है 21वीं सदी का भारत

Daily news network Posted: 2018-01-13 17:04:07 IST Updated: 2018-01-13 20:03:52 IST
  • बरपेटा-जिला अंतगर्त कालघचिया महकमा में एक ऐसी तस्वीर सामने आई है जहां एक गर्भवती महिला ने ठेलगाड़ी में ही बच्चे को जन्म दिया। प्राप्त जानाकारी के अनुसार कोहिनूर बेगम नामक गर्भवती महिला को सिविल अस्पताल ले जाने के लिए घरवालों ने 108 एम्बुलेंस सेवा

असम

बगाईगांव । बरपेटा-जिला अंतगर्त कालघचिया महकमा में एक ऐसी तस्वीर सामने आई है जहां एक गर्भवती महिला ने ठेलगाड़ी में ही बच्चे को जन्म दिया। प्राप्त जानाकारी के अनुसार कोहिनूर बेगम नामक गर्भवती महिला को सिविल अस्पताल ले जाने के लिए घरवालों ने  108 एम्बुलेंस सेवा से संपर्क साधा लकिन एम्बुलेंस के आने में देरी हाेने से परिजनों ने महिला को ठेलागाड़ी में ही ले जाने का निर्णय लिया।  






ठेलागाड़ी में अस्पताल ले जाते समय समय रास्ते में ही  महिला ने ठेलागाड़ी में ही बच्चे को  जन्म दे दिया। महिला के घरवालों ने  इस घटना पर दुःख  प्रकट किया और  सरकारी सुविधा सही समय पर नहीं मिलने पर नाराजगी जताई। 

 





अस्पताल सुप्रीटेंडेंट डॉ. शमशेर आलम ने कहा कि हॉस्पिटल में 108 एम्बुलेंस की कमी है और कमी के कारण गाड़ी इधर-उधर दौड़ती रहती है और जब 108 एम्बुलेंस  को फोन किया गया तो वह बाहर थी।

 






श्री आलम ने यह भी कहा कि  21वीं सदी में ठेलागाड़ी में बच्चे का जन्म दुखद है । ग्रामीणों को भी ध्यान रखना चाहिए कि गर्भवती को  दर्द होने से कुछ घंटे पहले हॉस्पिटल  से संपर्क किया जाना चाहिए ताकि  ऐसी नौबत न आए। डॉ. ने खस्ताहाल रास्ते का भी हवाला दिया और 108 मुहैया नहीं कराने हेतु खेद जाहिर किया।