नगालैंड चुनाव: 'त्रिशूल' और 'क्रॉस' में से किसी एक को चुनें

Daily news network Posted: 2018-02-14 10:12:11 IST Updated: 2018-02-14 10:13:45 IST
नगालैंड चुनाव:  'त्रिशूल' और 'क्रॉस' में से किसी एक को चुनें
  • नागालैंड चुनाव से पहले भाजपा आैर बाकी राजनीतिक दलों में जुबानी जंग तेज हो गर्इ है। एेसे में नगालैंड के सबसे बड़े चर्च संस्था नागालैंड बैपटिस्ट चर्च परिषद (एनबीसीसी) ने लोगों से भाजपा को वोट न देने की अपील की है...

कोहिमा।

नागालैंड चुनाव से पहले भाजपा आैर बाकी राजनीतिक दलों में जुबानी जंग तेज हो गर्इ है। एेसे में नगालैंड के सबसे बड़े चर्च संस्था नागालैंड बैपटिस्ट चर्च परिषद (एनबीसीसी) ने लोगों से भाजपा को वोट न देने की अपील की है आैर कहा है कि वो 'त्रिशूल' और 'क्रॉस' में से किसी एक को चुनें।

 

 

 


बैपटिस्ट चर्च ने लोगों से अपील की है कि वो पैसों और विकास के लिए ईसाई धर्म के मूल्यों को न छोड़ें इसके साथ ही ऐसे लोगों का साथ न दे जो "ईसा मसीह के हृदय को भेधना" चाहते हैं। एनबीसीसी ने नगालैंड की सभी पार्टियों के अध्यक्षों के नाम एक खुला खत लिखा है।



इस खत में लिखा गया है कि 2015-2017 के दौरान आरएसएस समर्थित भाजपा सरकार में भारत ने अल्पसंख्यक समुदायों के लिए में सबसे बुरा अनुभव किया है।बीजेपी ने इस खुले खत का अभी तक कोई जवाब नहीं दिया है।

 

 


नगालैंड के चुनाव में आमतौर पर ट्राइबल के मुद्दे छाए रहते हैं। राज्य में ज्यादातर उम्मीदवार ईसाई धर्म के हैं आैर भाजपा मेघालय, त्रिपुरा आैर नागालैंड में बीफ के मुद्दे को लेकर बैकफुट पर है।

 

आपको बता दें कि इस बार विधानसभा चुनाव में भाजपा का फोकस नार्थ र्इस्ट के राज्याें पर है। हालांकि नागालैंड में भाजपा के समर्थन की सरकार है आैर टी आर जिलियांग राज्य के मुख्यमंत्री है। नगालैंड में 18 फरवरी को चुनाव होने हैं आैर चुनाव परिणाम की घोषणा 3 मार्च को आएंगे।