किसानों ने पेश की ऐतिहासिक मिसाल! हाथियों का चारा उगाने के लिए दान कर दी जमीन

Daily news network Posted: 2019-08-14 19:40:03 IST Updated: 2019-08-14 19:40:03 IST
किसानों ने पेश की ऐतिहासिक मिसाल! हाथियों का चारा उगाने के लिए दान कर दी जमीन
  • भारत के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब किसानों ने हाथियों के लिए जमीन दी है।

गुवाहाटी

स्वतंत्रता दिवस से पहले असम के किसानों ने मिसाल पेश करते हुए हाथियों का चारा उगाने के लिए अपनी जमीन दान कर दी है। माना जा रहा है कि असम ही नहीं बल्कि भारत के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब किसानों ने हाथियों के लिए जमीन दे हो। इस जमीन को अब हाथियों के खाने के जोन के रूप में विकसित किया जाएगा।

 

असम में यह काम इस पहल के तहत किया गया है जिसमें कहा गया कि इंसानों और जानवरों के बीच जंग को रोका जाए और इसें जंबो किटी नाम दिय गया। ऐसा करने से हाथियों द्वारा किसानों की फसलों को नुकसान नहीं पहुंचाया जाएगा, क्योंकि उनको अब भरपेट खाना किसानों द्वारा दी जा रही जमीन व जंगलों से प्राप्त हो जाएगा।

 

असम के किसानों द्वारा जंबो किटी पहल के तहत हाथियों के चारे हेतु 203 बीघा जमीन दी गई है। ऐसा करने से अब हाथी कार्बी आंगलोंग जिले में पहा​ड़ों से उतर कर नीचे के मैदानों यानी किसानों की फसलों को खाने के लिए नहीं आएंगे। जंबो किटी पहल को दुलू तथा हाथीबंधु एनजीओ ने साथ मिलकर चलाया है। उनका मानना है कि जमीन मिलने से अब 350 से 400 हाथियों और इस इलाके में रहने वाले लोगों के बीच किसी तरह की जंग नहीं होगी।